सियासी दांव: यशपाल आर्य की भरपाई में जुटी भाजपा, मिशन 22 के लिए धामी तलाश रहे दलित ‘चेहरा’

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को चार महीने के अंतराल में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले एक लोकप्रिय दलित चेहरे की तलाश है. इन दिनों राज्य भाजपा के रणनीतिकार तीन-चार विधायकों को ‘टटोल’ रहे हैं कि कौन सा नेता ‘मिशन 22’ के लिए दलित वर्ग में फिट रहेगा.

पिछले दिनों धामी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे दलित नेता यशपाल आर्य और उनके विधायक पुत्र संजीव आर्य के कांग्रेस में घर वापसी के बाद भाजपा में ‘बेचैनी’ बढ़ गई है. उत्तराखंड में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहे और छह बार के विधायक यशपाल आर्य दलित समाज से आते हैं.

सूबे की दलित राजनीति पर मजबूत पकड़ रखने वाले यशपाल की छवि शांत और सादगी वाले नेता की है. इसके साथ उनकी उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में अच्छी पकड़ है. मुख्यमंत्री धामी चाहते हैं, वह ऐसा नेता हो जो यशपाल आर्य की बहुत हद तक ‘भरपाई’ कर दे. ‌

क्योंकि पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल के भाजपा छोड़ने के बाद सीएम धामी अपने मंत्रिमंडल में दलित चेहरे को मंत्री बनाना चाहते हैं. धामी सरकार में यशपाल आर्य के जाने के बाद खाली हुए मंत्री पद के लिए फिलहाल सबसे प्रबल दावेदारों में राजपुर रोड विधायक खजान दास, ज्वालापुर के सुरेश राठौर व बागेश्वर के चंदनराम दास के नाम की चर्चाएं हैं.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: हरीश रावत ने धामी सरकार पे साधा निशाना, कहा- 28 से प्रदेशभर में होगा कांग्रेसी आंदोलन

इसी को लेकर मंगलवार शाम को कुछ दलित विधायकों ने मुख्यमंत्री से मुलाकात भी की. वहीं दूसरी ओर पार्टी के कुछ दलित विधायकों ने तो दावेदारी भी पेश कर दी है. सीएम पुष्कर सिंह धामी अगर यह सीट भरते हैं तो पूर्व कैबिनेट मंत्री खजान दास के साथ विधायक चंदनराम दास और सुरेश राठौर की दावेदारी सबसे प्रबल बताई जा रही है. दूसरी ओर रायपुर से भाजपा विधायक जो कांग्रेस में जाते-जाते रह गए थे, उन्हें किसी प्रकार भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी और राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने ऐनमौके पर बचाया था.

उनको भी दिल्ली पार्टी हाईकमान ने उत्तराखंड सरकार में मंत्री का पद देने का आश्वासन दिया गया है. लेकिन मुख्यमंत्री चाहते हैं के इन 4 महीनों में होने वाले चुनाव से पहले किसी दलित विधायक को अपने मंत्रिमंडल में शामिल करा कर अनुसूचित जाति वर्ग में अपनी पकड़ मजबूत कर ली जाए.

चुनाव से पहले यशपाल के घर वापसी के बाद कांग्रेस दलित वर्ग में पैठ बनाने में जुटी
पंजाब में दलित नेता चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के बाद कांग्रेस हाईकमान ने पिछले दिनों उत्तराखंड में भी दलित मुख्यमंत्री बनाने का ‘सियासी दांव’ खेला . उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा था कि वह राज्य में साल 2022 में ‘दलित चेहरे’ को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं .

यह भी पढ़ें -  सीएम पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर आपदा प्रभावितों को सहायता राशि बढ़ाई गई

अब यशपाल आर्य की कांग्रेस में घर वापसी के बाद पार्टी ने दलितों में अपनी पैठ बनानी शुरू कर दी है. वहीं दूसरी ओर उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने दलित कार्ड से सियासी समीकरणों को प्रभावित करने की तैयारी कर ली है, जिसके तहत यशपाल की पार्टी ने घर वापसी कराई गई . बता दें कि उत्तराखंड में यशपाल आर्य को दलित राजनीति का केंद्र माना जाता है. सूबे में पहले कांग्रेस को दलित वर्ग का बड़ा समर्थन मिलता रहा, पर 2017 के विधानसभा चुनाव में इस वर्ग का रुझान भाजपा के प्रति तेजी से बढ़ा है.

यह इससे भी साबित होता है कि दलित कोटे के लिए आरक्षित 12 विधानसभा सीटों में से 10 पर भाजपा के प्रत्याशी निर्वाचित हुए थे. कांग्रेस को सिर्फ पुरोला से राजकुमार और भगवानपुर से ममता राकेश के रूप में दो सीटें मिलीं थी.राजकुमार पिछले दिनों भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर चुके हैं. वहीं भाजपा के टिकट से आरक्षित सीटों पर बाजपुर से यशपाल आर्य और नैनीताल से उनका बेटा संजीव आर्य जीते थे.

अगर उत्तराखंड में दलित आबादी की बात की जाए तो अनुसूचित जाति की आबादी 18.50 फीसदी के करीब है. 2011 की जनगणना के मुताबिक राज्य में अनुसूचित जाति की जनसंख्या 18,92,516 है. उत्तराखंड के 11 पर्वतीय जिलों में दलित आबादी 10.14 लाख है जबकि तीन मैदानी जिलों देहरादून, हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में 8.78 लाख है. सूबे में सबसे ज्यादा अनुसूचित जाति वर्ग की आबादी हरिद्वार जिले में 411274 है.

यशपाल आर्य के कांग्रेस में जाने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी दलित वर्ग में अपनी पकड़ बनाने के लिए एक लोकप्रिय चेहरे को जल्द ही आगे लाना चाहते हैं. इसके लिए वे पिछले दिनों से दिल्ली हाईकमान से भी सलाह करने में जुटे हुए हैं.

यह भी पढ़ें -  हल्द्वानी: भारी बारिश में गौला पुल की एप्रोच रोड बही, निरीक्षण करने पहुंचे सीएम धामी

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

स्वामी का नाम: प्रदीप चन्द्र पाठक
फ़र्म का नाम: यूटी मीडिया वेंचर्स
पता: HNo - 6 , सर्वोदय कॉलोनी, रनवीर गार्डेन के सामने, धानमिल रोड, हल्द्वानी। पिन: 263139
ईमेल - [email protected]
फोन: 8650000291

Stay Connected

58,944FansLike
3,114FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

-- Advertisement --

--Advertisement--
--Advertisement--

Latest Articles

26 अक्टूबर 2021 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो अगर आज के दिन यानी 26 अक्टूबर 2021 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

सरकारी कर्मियों के लिए दीवाली का तोहफा! अक्‍टूबर के वेतन में मिलेंगे 3 भत्‍ते-...

0
केंद्र सरकार दीवाली से पहले सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा देने की तैयारी कर चुकी है. इसी क्रम में मोदी सरकार ने पिछले...

आईपीएल 2022 में जुड़ेंगी दो नई टीमें, लखनऊ और अहमदाबाद बने आईपीएल के नए...

0
आईपीएल 2022 में दो नई टीमें जुड़ेंगी, जिसके लिए आज दुबई में बोली की प्रक्रिया चल रही है. यह पहला मौका नहीं है जब...

Covid19: बीते 24 घंटे में उत्तराखंड में मिले 11 नए कोरोना संक्रमित, एक भी मरीज...

0
उत्तराखंड में अब कोरोना संक्रमण काबू में आ गया है. बीते 24 घंटे में प्रदेश में 11 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वहीं, एक भी मरीज की मौत...

सीएम पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर आपदा प्रभावितों को सहायता राशि बढ़ाई गई

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा प्रभावितों को विभिन्न मदों में दी जा रही सहायता राशि को बढ़ाने के निर्देश दिये हैं. उन्होंने कहा...

एक और चुनावी घोषणा: पीएम मोदी के यूपी दौरे के दौरान प्रियंका गांधी ने...

0
उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आते जा रहे हैं कांग्रेस की महासचिव और प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी अपनी सक्रियता हर रोज बढ़ातीं...

राजधानी दिल्ली में डेंगू बरकरार, मामले हुए 1,000 के पार

0
कोरोना महामारी के बीच अब डेंगू भी बेकाबू होने लगा है. दिल्ली-एनसीआर में अब तक डेंगू के 1,000 से अधिक मामले सामने आ चुके...

वाराणसी में बोले पीएम-अब गरीब माता-पिता के बच्चे भी डॉक्टर बनने का सपना देख...

0
सोमवार को पीएम मोदी ने वाराणसी दौरे में प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का शुभारंभ क‍िया वहीं इस मौके पर उन्‍होंने वाराणसी के...

उत्तराखंड: हरीश रावत ने धामी सरकार पे साधा निशाना, कहा- 28 से प्रदेशभर में...

0
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राज्य में बीते दिनों आई आपदा को लेकर धामी सरकार पे एक बार फिर निशाना साधा है....

सीएम धामी के निर्देश पर उत्तराखण्ड में “एक जनपद दो उत्पाद” योजना संबंधी शासनादेश...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर उत्तराखण्ड में “एक जनपद दो उत्पाद” (वन डिस्ट्रिक्ट टू प्रोडक्ट्स) ONE DISTRICT TWO PRODUCTS योजना संबंधी...