मकर संक्रांति विशेष: मांगलिक शुभ कार्य और पतंगोत्सव के साथ मौसम परिवर्तन की भी शुरुआत करता है ये पर्व

आज एक ऐसा पवित्र पर्व है जिसको लेकर हमारे देश में प्राचीन समय से कई परंपराएं चली आ रही हैं. इस दिन मांगलिक कार्यों की शुरुआत के साथ मौसम में भी परिवर्तन होना शुरू हो जाता है. इसके साथ यह पर्व स्नान, दान-पुण्य और पतंग उड़ाने की परंपरा के लिए भी जाना जाता है. आज 14 जनवरी है इस दिन हिंदुओं का त्योहार मकर संक्रांति मनाया जाता है.

इस त्योहार को खिचड़ी पर्व भी कहा जाता है. वहीं दक्षिण के राज्यों में पोंगल पर्व भी मनाया जाता है. इस बार मकर संक्रांति को लेकर ज्योतिषियों की अलग-अलग राय है. कोई 14 जनवरी तो कोई 15 जनवरी को इस पर्व को मनाना शुभ मान रहा है. पौष माह की शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जाता है. मकर संक्रांति की तिथि सूर्य देव की चाल तय करती है.

जब सूर्य धनु से निकलकर शनि देव की राशि मकर में प्रवेश करते हैं, तो मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जाता है. हिंदू धर्म में मकर संक्रांति पर्व का विशेष महत्व माना जाता है. इस दिन किया गया गंगा स्नान, खिचड़ी, गर्म वस्त्र, तिल, चावल, घी, कंबल, गुड़ के दान और भगवान के दर्शन से सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है. यह दिन बड़ा पावन माना जाता है क्योंकि इस दिन से खरमास का अंत होता है, जिससे मांगलिक कार्यों की शुरुआत होती है. इस दिन गंगा में स्नान एवं दान पुण्य करना उत्तम माना जाता है. मकर संक्रांति के दिन से मौसम में बदलाव शुरू हो जाता है, सूर्य के प्रकाश में गर्मी और तपन बढ़ने लगती है. इसे शीत ऋतु के समापन और वसंत ऋतु के आगमन का प्रतीक माना जाता है.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में सियासी भूचाल: धन सिंह नेगी हुए कांग्रेस में शामिल

इस बार पुण्यकाल 14 जनवरी को सुबह 07 बजकर 15 मिनट से शुरू होकर शाम 05 बजकर 44 मिनट तक रहेगा. तथा महापुण्य काल सुबह 09 बजे से शुरू होकर 10:30 तक रहेगा. मकर संक्रांति पर पुण्य काल 14 जनवरी की रात 08:49 से प्रारंभ होकर 15 जनवरी के दिन दोपहर 12:49 तक समाप्त हो जाएगा.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड एपीओ भर्ती परीक्षा का प्रारंभिक रिजल्ट घोषित, सूची में देखें अपना नंबर

मकर संक्रांति के दिन पतंग उत्सव को भी त्योहार के रूप में मनाया जाता है

मकर संक्रांति का पर्व केवल दान-पुण्य के लिए नहीं जाना जाता बल्कि इस दिन पतंग उड़ाने की परंपरा भी चली आ रही है. पतंग उड़ाना इस त्योहार की एक तरह से रस्म है. बच्चे हों या युवा हर कोई पतंग उड़ाने के लिए इस दिन बेसब्री से इंतजार करते हैं. सुबह से ही आसमान में हर तरह रंग-बिरंगी पतंगें छा जाती हैं. कई जगहों पर तो पतंगोत्सव का भव्य आयोजन भी किया जाता है और प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती हैं.

पतंग उड़ाने की परंपरा भगवान श्रीराम ने की थी. पुराणों में उल्लेख है कि मकर संक्रांति पर पहली बार भगवान श्रीराम ने पतंग उड़ाई थी और ये पतंग उड़ते हुए स्वर्गलोक में इंद्र के पास जा पहुंची. इसका उल्लेख तमिल की तन्दनानरामायण में भी मिलता है. भगवान ने इस पतंग पर संदेश लिख कर इंद्रदेव को दिया था. मान्यता है कि संक्रांति पर अपनी मनोकामना यदि पतंग पर लिख कर उड़ाया जाए तो वह ईश्वर तक पहुंचती है और आस पूरी होती है. पतंग उड़ाने की मान्यता का मकर संक्रांति के साथ संबंध है. इसके पीछे अच्छी सेहत का राज है. दरअसल मंकर संक्रांति पर सूरज से मिलने वाली धूप से स्वास्थ्य लाभ होता है. वैज्ञानिक दृष्टि से इस दिन सूर्य की किरण शरीर के लिए अमृत समान है, जो विभिन्न रोगों को दूर करने में सहायक होती है.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,184FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

1 फरवरी से बैंकिंग समेत बदल रहे कई नियम, जानिए आपकी जेब पर कितना...

0
आगामी 1 फरवरी 2022 से बैंकिंग समेत कई नियम बदलने जा रहे हैं. आपके जीवन से जुड़े इन नियमों में बदलाव से आफकी जेब...

Covid19: देश भर में कोरोना के 2.35 लाख नए मामले-871 लोगों की मौत

0
पिछले 24 घंटे के दौरान देश भर से कोरोना के 2.35 लाख नए केस आए हैं. जबकि इस दौरान 871 लोगों की मौत हुई....

उत्तराखंड के 18 दलबदलू, बीजेपी, कांग्रेस-आप कहीं न कहीं से मिल ही गया टिकट

0
विधायक बनने के लिए दल बदलना आम बात हो गई है. उत्तराखंड चुनाव के माहौल में अब तक 18 नेता ऐसे हैं, जिन्होंने दूसरी...

राशिफल 29-01-2022: आज इस राशि को मिलेगा शुभ समाचार

0
मेष- आज आप अपने मन मुताबिक काम करेंगे. घर या परिवार में कोई शुभ कार्य हो सकता है. चतुर आर्थिक योजनाओं में आज फंसने...

29 जनवरी 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 29 जनवरी 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

खूब हुई सराहना: दुर्घटना के बाद खेत में पड़े एयरक्राफ्ट को बिहार के लोगों...

0
शुक्रवार दोपहर को बिहार के गया में एक ऐसी घटना हुई जिसे देखकर सोशल मीडिया पर लोग लोगों ने बिहारियों की खूब सराहना की....

उत्तराखंड एपीओ भर्ती परीक्षा का प्रारंभिक रिजल्ट घोषित, सूची में देखें अपना नंबर

0
देहरादून। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा 21 नवंबर 2021 को आयोजित उत्तराखंड सहायक अभियोजन अधिकारी परीक्षा 2021 के प्रारंभिक परीक्षा के आधार पर निम्नलिखित...

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए भाजपा के स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी,...

0
देहरादून| उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के लिए भाजपा ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी कर दी है, सूची में सबसे ऊपर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी...

Covid19: उत्तराखंड में मिले 2813 नए मरीज, सात की मौत-एक्टिव केस 30 हजार के...

0
उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2813 नए मामले सामने आए हैं, जबकि सात कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई. दूसरी ओर,...

उत्तराखंड ब्रेकिंग: भाजपा ने की 2 प्रत्याशियों की औपचारिक घोषणा, इनको मिला टिकट

0
देहरादून। उत्तराखंड भाजपा ने अपने दो प्रत्याशियों की घोषणा औपचारिक रूप से कर दी है, भारतीय जनता पार्टी ने डोईवाला विधानसभा से बृज भूषण...
%d bloggers like this: