मणिपुर का सबसे पुराना सशस्त्र समूह यूएनएलएफ हिंसा छोड़कर मुख्यधारा में शामिल होने पर हुआ सहमत

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार (29 नवंबर) को कहा कि मणिपुर में सबसे पुराना सशस्त्र समूह यूएनएलएफ हिंसा छोड़कर मुख्यधारा में शामिल होने पर सहमत हो गया है. उन्होंने बताया कि यूएनएलएफ ने एक शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं.

गृह मंत्री शाह ने अपने X हैंडल पर कुछ तस्वीरें साझा करते हुए बताया, ”एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल हुई! पूर्वोत्तर में स्थायी शांति स्थापित करने के मोदी सरकार के अथक प्रयासों में एक नया अध्याय जुड़ गया है क्योंकि यूनाइटेड नेशनल लिबरेशन फ्रंट (यूएनएलएफ) ने आज नई दिल्ली में एक शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए.”

गृह मंत्री ने कहा, ”मणिपुर का सबसे पुराना घाटी स्थित सशस्त्र समूह यूएनएलएफ हिंसा छोड़कर मुख्यधारा में शामिल होने पर सहमत हो गया है. मैं लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं में उनका स्वागत करता हूं और शांति और प्रगति के पथ पर उनकी यात्रा के लिए शुभकामनाएं देता हूं.”

एक और पोस्ट में गृह मंत्री ने कहा, ”भारत सरकार और मणिपुर सरकार की ओर से यूएनएलएफ के साथ आज हस्ताक्षरित शांति समझौता छह दशक लंबे सशस्त्र आंदोलन के अंत का प्रतीक है. यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सर्वसमावेशी विकास के दृष्टिकोण को साकार करने और पूर्वोत्तर भारत में युवाओं को बेहतर भविष्य प्रदान करने की दिशा में एक ऐतिहासिक उपलब्धि है.”

बता दें कि गृह मंत्रालय ने कई अन्य चरमपंथी संगठनों के साथ यूएनएलएफ पर प्रतिबंध लगाया हुआ था. एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रतिबंध लगाए जाने के कुछ दिनों बाद यह शांति समझौता हुआ. यह निर्णय तब लिया गया जब केंद्र को लगा कि ये संगठन मणिपुर में सुरक्षा बलों, पुलिस और नागरिकों पर हमलों और हत्याओं के साथ-साथ भारत की संप्रभुता और अखंडता के लिए हानिकारक गतिविधियों में शामिल है. यूएनएलएफ मणिपुर में सबसे पुराना मैतेई विद्रोही समूह है, जिसकी स्थापना 24 नवंबर, 1964 में की गई थी.

Related Articles

विज्ञापन

Latest Articles

Ranchi Test: टीम इंडिया ने जीता चौथा टेस्ट मैच, सीरीज में 3-1 की अजेय...

0
रांची टेस्ट मैच के चौथे दिन लंच ब्रेक के तुरंत बाद शोएब बशीर ने अपनी फिरकी का जादू दिखाते हुए जडेजा के बाद सरफऱाज...

…तुझे जिंदा छोड़ रहे हैं, घर जाकर इनके घर बता दियो, ऑन स्पॉट क्या...

0
इंडियन नेशनल लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी की हत्या से हरियाणा में सियासी भूचाल मच गया है. प्रदेश में कानून व्यवस्था पर...

हरीश रावत दून में बजट सत्र कराने के खिलाफ, मौन व्रत रख अनशन पर बैठे

0
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने साथी कार्यकर्ताओं के साथ एक सांकेतिक मौन व्रत का आयोजन किया, जो गांधी पार्क में आयोजित किया गया।...

धामी सरकार अपनाएगी योगी का यूपी मॉडल, उपद्रवियों पर कसेगी नकेल

0
उत्तराखंड में 26 फरवरी से विधानसभा का बजट सत्र आरंभ होने जा रहा है। एएनआई के समाचार एजेंसी के अनुसार, सरकार सदन में विरोध...

देहरादून: किमाड़ी में गुलदार ने दस साल के बच्चे को बनाया अपना शिकार,...

0
किमाड़ी-मसूरी मार्ग पर स्थित वन गुर्जर बस्ती में गुलदार ने खेल रहे 10 साल के बच्चे को अपना निवाला बना लिया। परिजनों ने उस...

अब्दुल मलिक को नैनीताल जेल के बैरक नंबर एक में रखा, सीसीटीवी से निगरानी...

0
दिल्ली से गिरफ्तार होकर अब्दुल मलिक को शनिवार की रात नैनीताल जेल में दाखिल कर दिया गया है। पुलिस ने हल्द्वानी हिंसा के मोस्ट...

आज भी ईडी सामने पेश नहीं होंगे केजरीवाल! रोज समन भेजने की जगह….

0
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल एक बार फिर ईडी के सामने पेश नहीं होंगे. आम आदमी पार्टी का कहना है कि केजरीवाल अभी ईडी...

उत्तराखंड: आज से विधानसभा का बजट सत्र शुरु , एक मार्च तक रहेगा जारी

0
विधानसभा का बजट सत्र आज 26 फरवरी से शुरू हो गया है और यह सत्र एक मार्च तक जारी रहेगा। आज सोमवार को सुबह...

ज्ञानवापी मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, तहखाने में जारी रहेगी पूजा

0
ज्ञानवापी मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने आज यानी सोमवार को बड़ा फैसला सुनाया है. हाईकोर्ट ने मुस्लिम पक्ष की याचिका खारिज कर दी...

2000 रुपये के नोटों को लेकर आरबीआई का बड़ा अपडेट! अभी भी 8897 करोड़...

0
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सर्कुलेशन से बाहर किए 2000 रुपये के नोटों को लेकर एक बड़ा अपडेट दिया है. 2000 रुपये चलन से...