मॉब लिंचिंग: उचित मुआवजा नीति की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, राज्यों को जारी किया नोटिस

सुप्रीम कोर्ट ने देश में मॉब लिंचिंग के पीड़ितों के लिए एक समान और उचित मुआवजा नीति अपनाने का निर्देश देने की मांग वाली एक जनहित याचिका पर शुक्रवार को केंद्र और राज्य सरकारों से जवाब मांगा। जस्टिस केएम जोसेफ और बीवी नागरत्ना की पीठ ने कहा कि, प्रगति और सुधार के लिए भारतीय मुसलमानों द्वारा दायर, तहसीन एस पूनावाला बनाम भारत संघ और अन्य (2018) के मामले में इस अदालत द्वारा जारी निदेशरें के कार्यान्वयन के साथ-साथ जनहित में दायर किया गया है.

याचिकाकर्ता के वकील एडवोकेट जावेद आर. शेख ने अदालत का ध्यान उपरोक्त फैसले के उस प्रासंगिक अंश की ओर खींचा, जिसमें यह निर्देश दिया गया था कि राज्य दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 357ए के तहत लिंचिंग/भीड़ हिंसा के मामलों में पीड़ितों को मुआवजा प्रदान करने के उद्देश्य से एक योजना तैयार करेंगे.

उन्होंने प्रस्तुत किया कि कुछ राज्यों ने एक योजना तैयार की है जबकि कई राज्यों ने आज तक ऐसा नहीं किया है. शीर्ष अदालत ने अपने आदेश में कहा- यह आगे प्रस्तुत किया गया था कि उक्त निर्णय ने दिशा-निर्देश दिए थे कि किस तरह से पीड़ित मुआवजा योजना को तैयार किया जाना चाहिए क्योंकि राज्य सरकारों को शारीरिक चोट, मनोवैज्ञानिक चोट और कमाई के नुकसान की प्रकृति के साथ-साथ अन्य अवसरों जैसे शैक्षिक अवसरों की हानि और मॉब लिंचिंग/भीड़ की हिंसा के कारण होने वाले खचरें पर उचित ध्यान देना होता है.

इस संबंध में यह प्रस्तुत किया गया था कि क्योंकि राज्य सरकारों को शारीरिक चोट, मनोवैज्ञानिक चोट और कमाई के नुकसान की प्रकृति के साथ-साथ अन्य अवसरों जैसे शैक्षिक अवसरों की हानि और मॉब लिंचिंग/भीड़ की हिंसा के कारण होने वाले खचरें पर उचित ध्यान देना होता है.

वकील की बात सुनने के बाद पीठ ने कहा, हम प्रतिवादियों को नोटिस जारी करते हैं. प्रतिवादियों को निर्देश दिया जाता है कि वे उपरोक्त मामले में जारी निदेशरें के कार्यान्वयन और जिस तरह से किया गया है, उसके संबंध में अपने-अपने हलफनामे दायर करें. उक्त हलफनामा नोटिस की तामील की तारीख से आठ सप्ताह की अवधि के भीतर दायर किया जाएगा.

Related Articles

Latest Articles

NEET पीजी परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी, इस लिंक से कर सकते हैं डाउनलोड

0
नेशनल बोर्ड ऑफ एग्जामिनेशन इन मेडिकल साइंसेज ने आज राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा - स्नातकोत्तर NEET PG 2024 के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए...

अरविंद केजरीवाल को राहत नहीं, 03 जुलाई तक बढ़ी हिरासत

0
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को अभी तिहाड़ जेल में ही रहना होगा. दिल्ली राउज एवेन्यू अदालत से केजरीवाल को राहत नहीं दी है....

राजधानी देहरादून में तेज हवाओं के साथ बारिश की बौछार, गर्मी से मिली...

0
राजधानी देहरादून में जून कि भारी गर्मी के बाद आज मौसम ने करवट ली हैं, कुछ देर तेज हवाओ के बाद बारिश ने लोगों...

दिल्ली: आतिशी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, बोली-हक का पानी नहीं मिला तो...

0
दिल्ली में पानी की भारी किल्लत ने सभी क्षेत्रों में अशांति फैला दी है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए, दिल्ली की जल...

किरण चौधरी और बेटी श्रुति ने थामा बीजेपी का दामन

0
हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले ही सियासी हलचलें तेज हो गई हैं. लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद अब बीजेपी...

रुद्रप्रयाग में हुए हादसे से अब उत्तरकाशी में रात 10 से सुबह 4 बजे...

0
उत्तरकाशी में पुलिस प्रशासन ने आगामी मानसून सीजन में चारधाम यात्रा को सुरक्षित और सरल बनाने के उद्देश्य से रात 10 बजे से सुबह...

‘अमेजन’ ने अपने नाम को ज्यादा ही ले लिया सीरियसली, सामान के साथ फ्री...

0
अमेजन का नाम आते ही सबसे पहले आपके दिमाग में शॉपिंग वेबसाइट आती होगी. अमेजन दरअसल, एक बड़ा जंगल है. जेफ बेजोस ने अपनी...

गर्मी के साथ महंगाई की मार: 100 रुपये किलो हरी मिर्च, धनिया 200 के...

0
भीषण गर्मी का प्रभाव अब सब्जियों की कीमतों पर भी साफ दिखाई देने लगा है। पिछले 10 दिनों में कई सब्जियों के दामों में...

पीएम मोदी ने नालंदा यूनिवर्सिटी के नए कैंपस का किया उद्घाटन, 17 देशों से...

0
पीएम नरेंद्र मोदी ने आज (19 जून) बिहार के राजगीर में नालंदा विश्वविद्यालय के नए परिसर का उद्घाटन कर दिया है. उद्घाटन कार्यक्रम में...

शेयर बाजार में नए रिकॉर्ड जारी: सेंसेक्स 135 अंक बढ़ा, निफ्टी 23600 के करीब

0
बुधवार को भारतीय शेयर बाजार में वैश्विक बाजार की बढ़त का सकारात्मक प्रभाव देखा गया, जिसके चलते प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स और निफ्टी ने...