भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों को झटका, मुआवजे की मांग करने वाली याचिका खारिज

भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों को उस समय बड़ा झटका लगा, जब सुप्रीम कोर्ट ने ज्यादा मुआवजे की मांग करने वाली केंद्र सरकार की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया. 1984 की भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों को अधिक मुआवजा देने के लिए यूनियन कार्बाइड कॉरपोरेशन की उत्तराधिकारी फर्मों से अतिरिक्त 7,844 करोड़ रुपये मांगने के लिए केंद्र सरकार ने याचिका दायर की थी.

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को केंद्र की क्यूरेटिव याचिका को खारिज करते हुए अपने फैसले में कहा कि डाऊ कैमिकल्स के साथ समझौता फिर से नहीं खुलेगा. भोपाल गैस त्रासदी में 3,000 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी, जबकि करीब एक लाख से ज्यादा लोग जिंदगी भर बीमारियों से जूझने को मजबूर हो गए.

जस्टिस संजय किशन कौल की अध्यक्षता वाली पांच जजों की संविधान पीठ इस मामले पर अपना फैसला सुनाएगी. इस पीठ में जस्टिस संजीव खन्ना, जस्टिस अभय एस ओका, जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस जेके महेश्वर भी शामिल हैं.

संविधान पीठ ने 12 जनवरी को केंद्र सरकार की याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. इस हादसे के लिए जिम्मेदार यूनियन कार्बाइड कॉरपोरेशन अब डॉव केमिकल्स के स्वामित्व में है. उसने आधी रात को यूनियन कार्बाइड कारखाने से जहरीली मिथाइल आइसोसाइनेट गैस के रिसाव के बाद 470 मिलियन अमेरिकी डालर 1989 में निपटान के समय 715 करोड़ रुपये) का मुआवजा दिया था.

गौरतलब है कि 1984 में 2 और 3 दिसंबर की रात को हुए गैस रिसाव से 3,000 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी और 1.02 लाख लोग इससे प्रभावित हुए थे. केंद्र सरकार लगातार इस बात पर जोर देती रही है कि 1989 में तय किए गए मुआवजे के समय इंसानों की मौतों, उन पर रोगों के कारण पड़ने वाले बोझ और पर्यावरण को हुए वास्तविक नुकसान की गंभीरता का ठीक से आकलन नहीं किया जा सका था. जबकि सुप्रीम कोर्ट ने 10 जनवरी को यूसीसी से ज्यादा मुआवजे की मांग वाली केंद्र सरकार की याचिका पर केंद्र से सवाल किया था. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सरकार 30 साल से अधिक समय के बाद कंपनी के साथ हुए समझौते को फिर से तय करने का काम नहीं कर सकती है.

Related Articles

Latest Articles

हल्द्वानी: कपड़े के गोदाम में लगी भीषण आग, लाखों का सामान खाक

0
हल्द्वानी से बड़ी खबर सामने आ रही है. यहां नैनीताल रोड के पास अंबिका बिहार कॉलोनी में मंगलवार को एक कपड़े के गोदाम में...

उत्तरकाशी में खुला कजरिया सेरेमिक्स लिमिटेड का भव्य शोरूम

0
उत्तरकाशी से सटे बड़ेथी में मनेरा- बायपास मोटर मार्ग पर कजरिया सेरेमिक्स लिमिटेड के भव्य शोरूम प्राइम प्लस का मंगलवार को आम जनता...

उत्तराखंड में बदला माैसम, यमुनोत्री धाम समेत आस पास के क्षेत्र में बारिश शुरू

0
उत्तराखंड में आज दोपहर बाद मौसम का रुख काफी बदल गया। यमुनोत्री धाम सहित यमुना घाटी में बारिश की शुरुआत हो गई है। वहीं,...

नैनीताल: गेठिया के जंगल में मिला सड़ा- गला शव, नहीं हो पाई मृतक की...

0
नैनीताल| मंगलवार को गेठिया के जंगल में एक अज्ञात व्यक्ति का सड़ा-गला शव मिलने की सूचना से सनसनी फैल गयी. शव बेहद सड़ा- गला...

जय श्रीराम से गूंजा देहरादून शहर,निकली भव्य शोभायात्रा, जगह-जगह सुंदरकांड पाठ

0
हनुमान जन्मोत्सव के अवसर पर देहरादून में जयश्री राम के जयकारों की गूंज सुनाई दी। शहर ने भव्य शोभायात्रा का आयोजन किया, जिसमें सुंदरकांड...

चैत्र पूर्णिमा पर धरती के सबसे करीब होगा चांद, जानें क्यों कहा जा रहा...

0
हिंदू धर्म में तिथियों और नक्षत्रों का काफी महत्व होता है. तिथियों में भी कुछ तिथियां अतिविशिष्ट मानी जाती हैं. इन तिथियों को लेकर...

अरविंद केजरीवाल की शराब घोटाला मामले में बढ़ी न्यायिक हिरासत, सात मई को होगी...

0
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ शराब घोटाले के आरोप में न्यायिक हिरासत की मुद्दा एक बार फिर से सुर्खियों में है। राजनीतिक...

राजस्थान रॉयल्स ने मुंबई इंडियंस को नौ विकेट से हराया, जमकर बरसे यशस्वी जायसवाल,...

0
राजस्थान रॉयल्स ने अपनी शानदार खेलप्रदर्शन के साथ मुंबई इंडियंस को नौ विकेट से हराकर सीजन की सातवीं जीत हासिल की। इस विजय के...

01 मई से बदलने वाले हैं रुपए-पैसे संबंधी ये नियम

0
वैसे तो हर माह की 1 तारीख रुपए-पैसे संबंधी नियमों के लिए खास होती है. लेकिन 1 मई को आम आदमी से जुड़े कई...

यूपीएससी के सीडीएस 2 फाइनल का रिजल्ट हुआ जारी, जाने पूरा विवरण

0
संघ लोक सेवा आयोग ने यूपीएससी सीडीएस 2 के अंतिम परिणाम घोषित हो चुका हैं, जिसमें संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा (II) 2023 के उम्मीदवारों...