ये रही पोस्ट ऑफिस की छोटी बचत योजनाएं- मिलेगा सुरक्षित और गारंटीड रिटर्न, जानें मेच्योरिटी से लेकर हर डिटेल

पोस्ट ऑफिस की छोटी बचत योजनाएं हमेशा से ही निवेश करने के लिए बेहतर विकल्प रही हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह है कि इसमें अच्छे रिटर्न के साथ आपके पैसों की सुरक्षा की गारंटी रहती है. इन बचत योजनाओं पर ब्याज दरें सरकार की छोटी बचत योजनाओं की तरह चलती हैं, जिनकी तिमाही आधार पर समीक्षा की जाती है. जहां एक और बैंक फडी की ब्याज दरों में कटौती कर रही है वहीं पोस्ट ऑफिस कई योजनाओं की पेशकश कर रही है. ग्राहक यहां इन्वेस्ट कर अच्छी कमाई कर सकते हैं. बचत खाता (Saving Account) डाकघर वर्तमान में व्यक्तिगत / संयुक्त बचत खातों पर प्रति वर्ष 4 प्रतिशत ब्याज देता है. बचत खाते में न्यूनतम बैलेंस 500 ​​रुपये होना जरुरी है. अगर आपके खाते में 500 रुपये का मिनिमम बैलेंस नहीं है तो आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है. दरअसल, डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट ने पोस्ट ऑफिस अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की सीमा को 50 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया है. अगर आपके खाते में कम से कम 500 रुपये नहीं रहेंगे तो वित्तिय वर्ष के अंतिम कार्य दिवस को पोस्ट ऑफिस आप पर 100 रुपये पेनाल्टी के रूप में वसूलेगा.
यह भी पढ़ें -  सीएम धामी का दिल्ली दौरा: केंद्रीय गृह मंत्री से की शिष्टाचार भेंट, इन मुद्दों पर हुई चर्चा
ऐसा हर ​साल ​किया जाएगा. अगर इन खातों में जीरो बैलेंस होता है तो इस अकाउंट को अपने आप बंद कर दिया जाएगा. रिकरिंग डिपॉजिट (RD) इस योजना में न्यूनतम निवेश राशि 10 रुपये और अधिकतम निवेश राशि की कोई सीमा नहीं है. पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट रेगुलर इंटरवल पर छोटी छोटी राशि के निवेश का मौका देती है. इसकी मेच्येारिटी 5 साल की होती है. इसे आगे भी बढ़ा सकते हैं. यह मौजूदा तिमाही के लिए 5.8 प्रतिशत की ब्याज दर प्रदान करता है. मंथली इनकम स्कीम (MIS) इस स्कीम में न्यूनतम 1,000 रुपए और अधिकतम 4.5 लाख रुपए का निवेश कर सकते हैं. लेकिन, ज्वाइंट खाते में अधिकतम 9 लाख रुपए तक जमा किया जा सकता है. यह योजना रिटायर्ड कर्मचारियों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए तो काफी फायदेमंद है. इस योजना में सालाना 6.6 प्रतिशत ब्याज मिल रहा है. इसका भुगतान हर महीने होता है. FD या टाइम डिपॉजिट पोस्ट ऑफिस एफडी में 1, 2 , 3 और 5 साल के लिए निवेश किया जा सकता है. अलग-अलग अवधि की एफडी पर अलग-अलग ब्याज दरें मिलती हैं. 1 से लेकर 3 साल तक के लिए जमा पर 5.5 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलता है. पांच साल की जमा पर 6.7 प्रतिशत का रिटर्न मिलता है.
यह भी पढ़ें -  योगी सरकार ने यूपी के 11 आईएएस अधिकारियों के किए तबादले, देखें लिस्ट
पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) इस योजना में भी निवेश की राशि, ब्याज और मेच्योरिटी राशि तीनों में ही आयकर से छूट मिलती है. इस योजना में 15 साल का लॉक-इन पीरियड होता है, लेकिन सात साल बाद से आंशिक निकासी की सुविधा दी गई है. इस योजना को मेच्योरिटी के बाद 5—5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं. यह योजना प्रतिवर्ष 7.1 प्रतिशत की ब्याज दर प्रदान करती है, इस योजना में न्यूनतम निवेश राशि 500 रुपये और अधिकतम निवेश राशि 1.50 लाख रुपये सालाना रखी गई है. नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) की मेच्योरिटी 5 साल होती है. इस योजना में भी धारा 80 सी के तहत आयकर में छूट मिलती है. NSC में न्यूनतम निवेश राशि 100 रुपये और अधिकतम निवेश राशि की कोई सीमा नहीं है. इस योजना में 6.8 फीसदी सालाना ब्याज मिलता है.
यह भी पढ़ें -  रविवार को भगवान सूर्य देवता को जल चढ़ाने के होते हैं कई फायदे, जानिए अर्घ्य देने का सही तरीका
सीनियर सिटीजन सेविग्स स्कीम (SCSS) यह वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS) में 60 साल या इससे अधिक की उम्र के वरिष्ठ नागरिक इस स्कीम में निवेश कर सकते हैं. स्कीम के तहत प्रति वर्ष 7.4 प्रतिशत की दर से तिमाही आधार पर जमा पर ब्याज मिलता है. स्कीम में निवेश पर सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट मिलती है. किसान विकास पत्र (KVP) किसान विकास पत्र 6.9 प्रतिशत की ब्याज दर प्रदान करता है. इस योजना में न्यूनतम निवेश राशि की सीमा 1,000 रुपये और अधिकतम निवेश राशि की कोई सीमा नहीं है. मेच्योरिटी टाइम 124 महीने का है. सुकन्या समृद्धि खाता इस योजना में 7.6 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलता है, जिसकी गणना वार्षिक आधार पर की जाती है. निवेश करने के लिए आवश्यक न्यूनतम राशि 250 रुपये है और अधिकतम 1,50,000 रुपये है. अधिकतम दो बेटियों के लिए स्कीम के तहत खाते खुलवाए जा सकते हैं.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,236FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

योगी सरकार ने यूपी के 11 आईएएस अधिकारियों के किए तबादले, देखें लिस्ट

0
उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने आईपीएस के बाद 11 वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के ट्रांसफर कर दिए हैं. शनिवार शाम को इसके शासनादेश भी...

महाराष्ट्र सियासी संकट: केंद्र ने शिंदे गुट के 15 विधायकों की दी वाई प्लस...

0
महाराष्ट्र में हुए विधान परिषद चुनाव के बाद से महाराष्ट्र की राजनीति में आई अस्थिरता थमने का नाम नहीं ले रही है. शिवसेना के...

दांतों का साथी: आज दुनिया को मिली थी ‘टूथब्रश’ की सौगात, 524 साल पहले...

0
आज 26 जून, दिन संडे है. छह दिनों से जारी महाराष्ट्र संकट पर मुंबई से लेकर राजधानी दिल्ली तक सियासी माहौल गरमाया हुआ है....

Covid19: देश में कोरोना के मामलों में आई कमी, पिछले 24 घंटो में मिले...

0
देश में रविवार को पिछले 24 घंटों में जहां कोरोना के 11,739 मामले सामने आए, वहीं 25 मरीजों की मौत भी हुई है. कोरोना...

बड़ा हादसा टला, बर्ड हिट के चलते सीएम योगी के हेलिकॉप्टर की कराई इमरजेंसी...

0
रविवार को वाराणसी में बर्ड हिट के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ के हेलिकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी. इमरजेंसी लैंडिंग के बाद सीएम योगी...

रविवार को भगवान सूर्य देवता को जल चढ़ाने के होते हैं कई फायदे, जानिए...

0
हिंदू धर्म में सूर्य को जल देने की परंपरा बहुत पुरानी है जिसे आज भी निभाते हैं. श्रद्धालु हर रोज सूर्य देवता को अर्घ्य...

राशिफल 26-06-2022: आज सूर्यदेव की तरह चमकेगा इनका भाग्य, पढ़े मेष से मीन तक...

0
मेष- वाणी में मधुरता रहेगी. कारोबार का विस्तार हो सकता है. किसी मित्र का सहयोग मिल सकता है. आय में वृद्धि होगी. वृष- मन...

26 जून 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 26 जून 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान...

UP Bed 2022: यूपी बीएड प्रवेश परीक्षा 2022 के लिए एडमिट कार्ड जारी

0
यूपी बीएड प्रवेश परीक्षा 2022 के लिए एडमिट कार्ड आज 25, जून 2022 को जारी कर दिए हैं. यूपी बीएड परीक्षा के लिए उम्मीदवार...

देहरादून: आपदा के दौरान मीडिया की होती है अहम भूमिका, आपदा प्रबंधन में मीडिया...

0
अधिशासी निदेशक डॉ. पीयूष रौतेला ने बताया कि भू-वैज्ञानिक व भौगोलिक परिस्थितियों के साथ ही मौसम सम्बन्धित विषमता उत्तराखण्ड को कई आपदाओं के प्रति...
%d bloggers like this: