ज्योतिष की नज़र से रसोई घर, गृहणी और बरकत

कहते है कि किसी के हृदय तक पहुँचने का रास्ता पेट से होकर जाता है अर्थात् स्वादिष्ट भोजन यदि किसी को खिलाया तो वो कोई भी हो आपका मित्र बनते देर न लगाएगा और फ़िर अपने हाथ से बनाकर खिलाने पर तो हम प्रशंसा के ही पात्र नही बनते खिलाने वाले को ही वश मे कर लेते है.

पहले और आज के ज़माने में यही अंतर आ गया है, गृहणियाँ जानती थी कि खाना बनाने की कला ही नही खाना बनाने में रूचि होना सबसे बड़ा वशीकरण मंत्र है जिसके वश में सभी आ जाते है और सुखी गृहस्थ जीवन की शर्तों में एक मुख्य शर्त यह भी है.

आजकल परिवार टूटने, बिखरने या अस्वस्थ रहने के पीछे बहुत बड़ा कारण स्त्री वर्ग का रसोई से जी कतराना भी है. इसके पीछे क्या ज्योतिषीय कारण हो सकते है जानते है-

  1. लग्न व लग्नेश सबसे प्रमुख है इसका पीड़ित होना.
  2. मंगल, गुरु व शुक्र का पीड़ित होना या पाप प्रभाव में होना.
  3. द्वितीय एवम् एकादश भाव में पाप ग्रहों की दृष्टि या पाप ग्रहों का स्थित होना.
    ० मंगल रसोई का कारक है. गुरु खाना पकाने में रूचि जागृत करता है. साथ ही कुंडली में अग़र शुक्र अच्छा है तो मान के चले घर का वास्तु अच्छा ही होगा और रसोई की स्थिति भी उत्तम होगी, पानी की व्यवस्था, सूर्य की पर्याप्त रौशनी और धूएँ की निकासी का उचित प्रबंध होगा.

इन उपरोक्त बातों के अलावा राहु और शनि के दुष्प्रभाव मे यदि गृहणी है तो रसोई घर में पैकेट बंद खाना अधिक मिलेगा. रेफ्रिजिरेटर में बासी खाना होगा, कभी ताजे मसाले नही होगें, केतु का दुष्प्रभाव बासी आटे के प्रयोग से जाना जा सकता है. रात को ही फ्रिज में आटा तैयार करके स्टॉक करना खराब केतु के लक्षण है. प्लास्टिक के अधिकतर बर्तन मिलना यह सब राहु केतु व खराब शनि के प्रभाव है. और रसोई के लिये कहते है कि खाना रसोई में बैठकर खाया तो राहु महाराज शांत हो जाते है, लेकिन यही राहु बुरा प्रभाव देने पे रसोई घर से अरूचि उत्पन्न करता है. रात्रि को झूठे बर्तन सिंक में छोड़ना राहु केतु के पीड़ा को और बढ़ाता है साथ ही चंद्र को भी खराब करता है.

रसोई में खाना स्नान के बाद बनाए और उससे पूर्व रोज़ गोबर के उपले में घी गूगल और कपूर की टिकिया से धूनी दे ताकि घर में बरकत हो व खाना घर के चूल्हे पे पके. गृह स्वामी की कुंडली का द्वितीय भाव जो कि धन संचय का है एवम् एकादश भाव जो लाभ का है गृहणियाँ घर में रसोई में नियमित कार्य करके एक्टिव कर सकती है. सुखी और समृद्धि की पहचान है घर का चलती रसोई.

Related Articles

Latest Articles

IPL 2024 GT Vs PBKS: अपने घर में हारी पंजाब किंग्स, गुजरात ने लगाया...

0
पंजाब किंग्स और गुजरात टायटंस के बीच मुल्लापुर स्टेडियम में लो स्कोरिंग मैच खेला गया. पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब किंग्स ने 143 रनों...

राशिफल 22-04-2024: आज सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य

0
मेष-: नौकरी में अफसरों का सहयोग मिलेगा.तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे.कार्यक्षेत्र में बदलाव हो सकता है. परिश्रम अधिक रहेगा. मित्रों का सहयोग मिलेगा. वाणी...

22 अप्रैल 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 22 अप्रैल 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

शादी के कार्ड पर क्‍यों ल‍िखा होता है ‘चिं’ और ‘सौ. का’- जानिए क्या...

0
शादी के कार्ड पर क्‍यों ल‍िखा होता है 'चिं' और 'सौ. का': आजकल भले ही लोग अंग्रेजी में छपने वाले शादी के कार्ड्स में...

IPL 2023 RCB Vs KKR: आखिरी गेंद में जीता कोलकाता, आरसीबी को एक रन...

0
कोलकाता नाइट राइडर्स ने आईपीएल 2024 में अपना पांचवा जीत हासिल कर ली है. रविवार को ईडन गार्डन कोलकाता में खेले गए रोमांचक मुकाबले...

मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर! डायरेक्ट टैक्स से खजाने में आए 19.58 लाख...

0
मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर आई है. चालू वित्त वर्ष सरकारी खजाने के लिए बेहतर साबित हो रहा है. सरकार की टैक्स से...

सांसद राहुल गांधी की तबीयत बिगड़ी, सतना और रांची का दौरा रद्द

0
कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी की तबीयत बिगड़ने की वजह से उनका मध्य प्रदेश का सतना का दौरा रद्द कर...

उत्तराखंड: हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति गुसाईं बीजेपी में शामिल

0
रविवार को उत्तराखंड कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति गुसाईं ने भाजपा का दामन थाम लिया. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र...

उधमसिंहनगर: बरात में भिड़े दूल्हा और दुल्हन पक्ष, 4 के फूटे सिर-वापस लौटी बरात

0
रुद्रपुर| उधमसिंहनगर ज़िले के रुद्रपुर में बरात में डीजे और शादी की रस्म को लेकर दूल्हा और दुल्हन पक्ष के लोग आपस में भिड़...

बाबा रामदेव को सुप्रीम कोर्ट से एक और झटका, योग शिविरों के लिए देना...

0
सुप्रीम कोर्ट से योग गुरु बाबा रामदेव को एक और झटका लगा है. इस बार सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव के पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट...