Good Friday 2024: क्यों मनाया जाता है गुड फ्राइडे, जानिए भगवान यीशु की बलिदान की कहानी

गुड फ्राइडे ईसाई समुदाय के खास पर्वो में से एक है. इसे भगवान यीशु के शोक दिवस के रूप में मनाया जाता है. गुड फ्राइडे को ग्रेट फ्राइडे, ब्लैक फ्राइडे या होली फ्राइडे का नाम भी दिया गया है. कल यानि 29 मार्च को गुड फ्राइडे मनाया जाएगा. ऐसा मान्यता है कि मानव जाति की रक्षा को लेकर प्रभु यीशु ने बलिदान दे दिया था. यीशु को यहूदी शासकों ने शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया था. इस दिन यीशु को सूली पर चढ़ाया गया. ये दिन शुक्रवार था. इसे गुड फ्राइडे के रूप में मनाया जाता है. इस कारण से ईसाई धर्म के लोग गुड फ्राइडे को प्रभु यीशु के बलिदान के रूप में याद करते हैं.

ये दिन ईसाई धर्म के अनुयायियों के लिए बेहद खास होता है. इस दिन ईसाई धर्म के लोग गिरजाघरों में जाकर प्रार्थना सभा में सम्मलित होते हैं. इसके साथ प्रभु यीशु की याद में उपवास भी रखा जाता है. उपवास को करने के बाद मीठी रोटी बनाई जाती है. गुड फ्राइडे को पुरे विश्वभर में सभी ईसाई लोग मनाते हैं. आइए इस दिन को लेकर विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं. हर वर्ष गुड फ्राइडे को अंग्रेजी कैलेडर के हिसाब से अप्रैल के माह में मनाया जाता है. मगर, इस साल 29 मार्च 2024 को गुड फ्राइडे मनाया जाएगा.

किस लिए मनाया जाता है गुड फ्राइडे
गुड फ्राइडे के दिन प्रभु यीशु को सूली पर चढ़ाया गया था. उस समय धार्मिक कंट्टरपंथियों ने रोम के शासक से शिकायत करके उन्हें सूली चढ़ाने को कहा. प्रभु ईसा मसीह प्रेम और शांति के प्रतीक थे. इस वजह से ईसाई धर्म को मानने वाले लोग गुड फ्राइडे को काले दिवस के रूप में मनाते हैं. ऐसा कहा जाता है कि प्रभु यीशु इस घटना के तीन दिन बाद यानी ईस्टर संडे के दिन दोबारा जीवित हो उठे थे.

ऐसे मनाया जाता है गुड फ्राइडे
ईसाई धर्म के लोग गुड फ्राइडे के दिन व्रत का पालन करते हैं. इसके साथ प्रभु यीशु के त्याग और बलिदान को याद किया जाता है. इस दिन लोग शोक मनाने के लिए काले रंग के वस्त्र को धारण करते हैं. ऐसा कहा जाता है कि गुड फ्राइडे वाले दिन गिरजाघरों में घंटा नहीं बजाया जाता है. यहां पर लोग क्रॉस को चूमकर प्रभु यीशु को याद करते हैं.

Related Articles

Latest Articles

बाबा रामदेव को सुप्रीम कोर्ट से एक और झटका, योग शिविरों के लिए देना...

0
सुप्रीम कोर्ट से योग गुरु बाबा रामदेव को एक और झटका लगा है. इस बार सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव के पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट...

डीडी न्यूज का लोगो केसरिया होने पर सियासी घमासान, विपक्ष ने घेरा

0
दूरदर्शन के तहत आने वाला सरकारी चैनल डीडी न्यूज अपने लोगो में किए गए बदलाव को लेकर विपक्षी दलों के निशाने पर आ गया...

IPL 2024 SRH Vs DC: दिल्ली के घर पर ट्रेविस हेड और अभिषेक शर्मा...

0
शनिवार को अरुण जेटली स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच हाईवोल्टेज और हाईस्कोरिंग मैच खेला गया. इस मैच में टॉस जीतकर...

पकंज त्रिपाठी के बहन और बहनोई दुर्घटना का शिकार, बहनोई की मौत-बहन की हालत...

0
बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता पकंज त्रिपाठी पर दुखों का पहाड़ टूट गया है. एक्टर की बहन और बहनोई दुर्घटना का शिकार हो गए...

राजस्थान: झालावाड़ में दर्दनाक सड़क हादसा, बारातियों से भरी वैन में ट्रक ने मारी...

0
राजस्थान के झालावाड़ में हुए एक सड़क हादसे में नौ लोगों की मौत हो गई. हादसे में एक शख्स गंभीर रूप से घायल हुआ...

यूपी: मुरादाबाद से भाजपा प्रत्याशी कुंवर सर्वेश सिंह का निधन, एम्स में ली अंतिम...

0
उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से भाजपा के प्रत्याशी एवं पूर्व सांसद कुंवर सुर्वेश कुमार सिंह का शनिवार को देहांत हो गया. दिल्ली के एम्स...

राशिफल 21-04-2024: आज इन राशियों का होगा भाग्योदय, सूर्यदेव बनाएंगे बिगड़े कार्य

0
मेष-: आज आपका दिन शुभ रहेगा. लंबे समय से अटका हुआ धन वापस मिलेगा. प्रोफेशनल लाइप में महत्वपूर्ण बदलाव आएंगे. ऑफिस में प्रमोशन या...

21 अप्रैल 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 21 अप्रैल 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ के वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ का दिल का दौरा पड़ने से निधन

0
रुद्रप्रयाग| ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ के वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ के निधन से पूरे क्षेत्र...

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार के खिलाफ पुलिस केस दर्ज, जानिए पूरा मामला

0
लोक सभा चुनाव के प्रचार के दौरान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार के खिलाफ पुलिस...