मांगलिक-धार्मिक और सोने की खरीदारी के लिए अक्षय तृतीया है सबसे शुभ दिन

आज अक्षय तृतीया का पर्व पूरे देश भर में धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है । इस दिन सबसे अच्छा शुभ मुहूर्त माना जाता है । देश में कोरोना संकटकाल की वजह से भले ही इस त्योहार की रौनक कम कर दी हो लेकिन लोगों में हर्ष और उल्लास छाया हुआ है। देशवासी एक दूसरे को सोशल मीडिया के माध्यम से अक्षय तृतीया और भगवान परशुराम जयंती की शुभकामनाएं दे रहे हैं ।

वही आज चार धामों में से एक यमुनोत्री के कपाट भी शुभ घड़ी में खोले जाने की परंपरा रही है । आइए जानते हैं अक्षय तृतीया के बारे में । अक्षय तृतीया को अखा तीज भी कहा जाता है। यह पर्व वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। अक्षय तृतीया को अबूझ मुहूर्त माना गया है। इस तिथि पर सूर्य और चंद्र अपनी उच्च राशि में होते हैं। इसलिए इस दिन शादी, कारोबार की शुरुआत और गृह प्रवेश करने जैसे- मांगलिक काम बहुत शुभ रहते हैं।

शादी के लिए जिन लोगों के ग्रह-नक्षत्रों का मिलान नहीं होता या मुहूर्त नहीं निकल पाता, उनको इस शुभ तिथि पर दोष नहीं लगता व निर्विघ्न विवाह कर सकते हैं। अक्षय तृतीया के दिन सोना और सोने के आभूषण खरीदना शुभ होता है। परंपरागत रूप से, दिवाली से पहले धनतेरस की तरह अक्षय तृतीया पर, लोग समृद्धि के लिए सोना खरीदते हैं । चूंकि अक्षय का अर्थ शाश्वत होता है, इसलिए लोग अपने जीवन में खुशहाली और समृद्धि लाने के लिए सोना और चांदी खरीदते हैं। लोग कार या महंगे घरेलू इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदने के लिए भी दिन सुरक्षित रखते हैं।

इस दिन विवाह, सगाई आदि करना उत्तम माना जाता है क्योंकि यह दिन अत्यंत शुभ होता है। इस तिथि को भगवान विष्णु के अवतार परशुराम जी का जन्म हुआ था, इसलिए भी यह दिन शुभ माना जाता है। अक्षय तृतीया पर, दान या दान कार्य पारंपरिक रूप से महत्वपूर्ण माना जाता है। लोग वंचितों को खाद्यान्न, कपड़े, गुड़ और अन्य सामान वितरित करते हैं। शास्त्रों के अनुसार, अक्षय तृतीया पर दान कार्य पूरे वर्ष के लिए असीमित सौभाग्य लाता है। पूजा, जप और यज्ञ: शास्त्रों के अनुसार, भगवान विष्णु, गणेश या गृह देवता को समर्पित प्रार्थनाओं का जाप करने से ‘शाश्वत’ सौभाग्य प्राप्त होता है।

अक्षय तृतीया के दिन भगवान परशुराम की जयंती भी मनाई जाती है—-

बता दें कि अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान परशुराम की जयंती भी मनाई जाती है । भगवान परशुराम का जन्म ब्राह्मण कुल में वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि पर हुआ था। यह तिथि बेहद महत्वपूर्ण मानी जाती है क्योंकि इस तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया भी कहा जाता है जो सनातन धर्म के लोगों के लिए बहुत विशेष होती है। हिंदू धर्म शास्त्रों में यह उल्लेख किया गया है कि भगवान परशुराम भगवान विष्णु के छठवें अवतार हैं। न्याय के देवता परशुराम को भगवान शिव ने परशु आशीर्वाद में दिया था

जिसके वजह से उनका नाम परशुराम रखा गया। परशु का अर्थ फरसा होता है। ऐसी मान्यता है कि परशुराम जी की पूजा करने से सभी तरह का भय मिट जाता है तथा इंसान के साहस में वृद्धि होती है। पौराणिक कथा के अनुसार भगवान परशुराम ने तीर चला कर गुजरात से लेकर केरल तक समुद्र को पीछे धकेल दिया। इससे नई भूमि का निर्माण हुआ। इसी कारण कोंकण, गोवा और केरल मे भगवान परशुराम की विशेष पूजा की जाती है।

उत्तरी गोवा में हरमल के पास आज भूरे रंग के एक पर्वत को परशुराम के यज्ञ करने का स्थान माना जाता है। परशुराम ने भगवान शिव की कठोर तपस्या की थी। तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने उन्हें कई अस्त्र शस्त्र प्रदान किया। भगवान शिव ने अपना परशु परशुराम को प्रदान किया था। यह अस्त्र परशुराम को बहुत प्रिय था । इस अस्त्र को वे हमेशा अपने साथ रखते थे। इसी कारण इन्हें परशुराम कहा गया।

Related Articles

Latest Articles

IPL 2024 GT Vs PBKS: अपने घर में हारी पंजाब किंग्स, गुजरात ने लगाया...

0
पंजाब किंग्स और गुजरात टायटंस के बीच मुल्लापुर स्टेडियम में लो स्कोरिंग मैच खेला गया. पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब किंग्स ने 143 रनों...

राशिफल 22-04-2024: आज सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य

0
मेष-: नौकरी में अफसरों का सहयोग मिलेगा.तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे.कार्यक्षेत्र में बदलाव हो सकता है. परिश्रम अधिक रहेगा. मित्रों का सहयोग मिलेगा. वाणी...

22 अप्रैल 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 22 अप्रैल 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

शादी के कार्ड पर क्‍यों ल‍िखा होता है ‘चिं’ और ‘सौ. का’- जानिए क्या...

0
शादी के कार्ड पर क्‍यों ल‍िखा होता है 'चिं' और 'सौ. का': आजकल भले ही लोग अंग्रेजी में छपने वाले शादी के कार्ड्स में...

IPL 2023 RCB Vs KKR: आखिरी गेंद में जीता कोलकाता, आरसीबी को एक रन...

0
कोलकाता नाइट राइडर्स ने आईपीएल 2024 में अपना पांचवा जीत हासिल कर ली है. रविवार को ईडन गार्डन कोलकाता में खेले गए रोमांचक मुकाबले...

मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर! डायरेक्ट टैक्स से खजाने में आए 19.58 लाख...

0
मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर आई है. चालू वित्त वर्ष सरकारी खजाने के लिए बेहतर साबित हो रहा है. सरकार की टैक्स से...

सांसद राहुल गांधी की तबीयत बिगड़ी, सतना और रांची का दौरा रद्द

0
कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी की तबीयत बिगड़ने की वजह से उनका मध्य प्रदेश का सतना का दौरा रद्द कर...

उत्तराखंड: हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति गुसाईं बीजेपी में शामिल

0
रविवार को उत्तराखंड कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति गुसाईं ने भाजपा का दामन थाम लिया. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र...

उधमसिंहनगर: बरात में भिड़े दूल्हा और दुल्हन पक्ष, 4 के फूटे सिर-वापस लौटी बरात

0
रुद्रपुर| उधमसिंहनगर ज़िले के रुद्रपुर में बरात में डीजे और शादी की रस्म को लेकर दूल्हा और दुल्हन पक्ष के लोग आपस में भिड़...

बाबा रामदेव को सुप्रीम कोर्ट से एक और झटका, योग शिविरों के लिए देना...

0
सुप्रीम कोर्ट से योग गुरु बाबा रामदेव को एक और झटका लगा है. इस बार सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव के पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट...