धार्मिक पर्व: नाग देवता की पूजा के साथ कई परंपराओं से जुड़ी है नाग पंचमी, आज शुभ ‘शिवयोग’ भी

भारत विभिन्न संस्कृति, धार्मिक परंपराएं और त्योहारों का देश माना जाता है. देश में त्योहारों के साथ लोक पर्व भी धूमधाम के साथ मनाया जाता है. ‌सावन के महीने में त्योहारों की शुरुआत हो जाती है. रविवार को हरियाली तीज मनाई गई.

हरियाली तीज के एक दिन बाद नाग पंचमी मनाई जाती है . आज नाग पंचमी पर्व पूरे देश भर में मनाया जा रहा है. यह पर्व सीधे भगवान भोलेनाथ और नाग देवता से जुड़ा हुआ है. शास्त्रों में सांपों को भी ‘देवता’ माना गया है. तभी इन्हें ‘नाग देवता’ भी कहा जाता है. शास्त्रों में नाग पंचमी के दिन का विशेष महत्व है.

इस दिन लोग नागों का प्रतीक चित्र बनाकर पूजा करते हैं और नागों को दूध पिलाने का भी विधान है. नाग पंचमी हर साल श्रावण माह शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है. इसे लेकर प्राचीन समय से धार्मिक परंपराएं भी चली आ रही हैं. महिलाएं नाग देवता की पूजा करती हैं. और घर में सुख-शांति के लिए उनकी प्रार्थना करते हैं.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी ने पीएम मोदी अध्यक्षता में आयोजित नीति आयोग की बैठक में किया प्रतिभाग

भगवान शिव के साथ-साथ नाग देवता की पूजा की जाती है. पूजा करने से कुंडली से कालसर्प दोष के साथ-साथ राहु-केतु के दुष्प्रभाव कम हो जाते है. इसके साथ ही सांपों से संबंधित हर तरह का भय खत्म हो जाता है. बता दें कि आज यानी नाग पंचमी के दिन 30 साल में पहली बार ‘शिवयोग’ के दौरान नाग पंचमी पड़ी है.

यह दुर्लभ संयोग है. इस दिन भगवान की पूजा-अर्चना का विशेष महत्व है ये पर्व भगवान शिव और नाग देवता से संबंधित होता है और नाग देवता की पूजा करके कोई भी व्यक्ति पापों से मुक्ति पाता है, इसके अलावा वे व्यक्ति शिव का भी आशीर्वाद प्राप्त करने में सफल रहता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर नाग पंचमी पर्व की शुरुआत कैसे हुई. आइए जानते हैं नागपंचमी शुरू होने की पौराणिक कथा.

भगवान श्रीकृष्ण और ऋषि आस्तिक मुनि से भी जुड़ी है नाग पंचमी-:

यह भी पढ़ें -  कोयला घोटाला: पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता और पूर्व संयुक्त सचिव के एस क्रोफा को सजा

बता दें कि नाग पंचमी का पर्व भगवान श्री कृष्ण और ऋषि आस्तिक मुनि से भी जुड़ा हुआ है. नागों की रक्षा के लिए यज्ञ को ऋषि आस्तिक मुनि ने श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी के दिन रोक दिया और नागों की रक्षा की. इस कारण तक्षक नाग के बचने से नागों का वंश बच गया.

आग के ताप से नाग को बचाने के लिए ऋषि ने उन पर कच्चा दूध डाल दिया था. तभी से नाग पंचमी मनाई जाने लगी. शास्त्रों के मुताबिक नाग पंचमी का एक किस्सा भगवान कृष्ण से भी जुड़ा हुआ है. महाभारत कथाओं में भी नाग पंचमी का उल्लेख मिलता है. भगवान श्रीकृष्ण और कालिया नाग की पौराणिक कथाओं में उल्लेखित है.

भगवान कृष्ण अपने दोस्तों के साथ खेल रहे थे तब ही खेलते समय उनकी गेंद नदी में जा गिरी. इस नदी में कालिया नाग का वास था. भगवान श्री कृष्ण गेंद को लाने के लिए नदी में कूद पड़े. तब ही कालिया नाग ने भगवान श्रीकृष्ण पर हमला कर दिया. लेकिन भगवान श्रीकृष्ण ने कालिया नाग को सबक सिखा दिया.

यह भी पढ़ें -  कॉमनवेल्थ गेम्स में उत्तराखंड के लाल ने देश के लिए जीता गोल्ड, पीएम मोदी और सीएम धामी ने दी बधाई

जिसके बाद भगवान कृष्ण से कालिया नाग ने मांफी मांगी और वचन दिया कि वो अब से किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचाएगा. कहते है कि कालिया नाग पर श्री कृष्ण की विजय को भी नाग पंचमी पर्व के रूप में मनाया जाने लगा. वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में नाग पंचमी के दिन गुड़िया का त्योहार भी मनाया जाता है.

इस त्योहार को कुछ अलग तरीके से मनाया जाता है. दरअसल, नागपंचमी के दिन उत्तर प्रदेश में गुड़िया को पीटा जाता है. अधिकांश पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों में गुड़िया को पीटा जाता है. इसके अलावा सपेरे आज सांपों को लेकर घर-घर दूध पिलाते हैं.

शंभू नाथ गौतम

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,242FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

केंद्रीय मंत्री नीतिन गडकरी से मिले सीएम धामी, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नीतिन गडकरी से भेंट की. मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री के...

कॉमनवेल्थ गेम्स में उत्तराखंड के लाल ने देश के लिए जीता गोल्ड, पीएम...

0
सोमवार को भारतीय बैडमिंटन टीम के सदस्य लक्ष्य सेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को गोल्ड दिलाया. लक्ष्य सेन ने पुरुष एकल के फाइनल...

यूपी: सीएम योगी को मिली बम से उड़ाने की धमकी

0
लखनऊ| यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है. पुलिस कंट्रोल रूम यूपी 112 के व्हाट्सएप नंबर पर...

CWG 2022 Badminton: डबल में भी भारत को गोल्ड

0
कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के मिक्स्ड डबल्स फाइनल में भारत के सात्विक साइराज रेंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने इंग्लैंड की बेन लेन और...

CWG 2022 Hockey: भारत पुरुष हॉकी टीम का गोल्ड जीतने का सपना टूटा, फाइनल...

0
भारतीय पुरुष हॉकी टीम का कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में गोल्ड जीतने का सपना टूट गया. भारत को रविवार को पुरुष हॉकी के फाइनल में...

ब्रेकिंग – कॉमनवेल्थ गेम्स के आखिरी दिन उत्तराखंड के लक्ष्य सेन ने जीता गोल्ड...

0
इंग्लैंड के बर्मिंघम में कॉमनवेल्थ गेम्स में आज आखिरी दिन उत्तराखंड के बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने गोल्ड मेडल जीत लिया है। लक्ष्य सेन...

विदाई समारोह: सांसद ने उपराष्ट्रपति के बचपन की कहानी सुनाई तब वेंकैया नायडू के...

0
विदाई या फेयरवेल का समय हमेशा ही खास और भावुक कर देने वाला होता है. वह लोग बहुत ही खुश किस्मत होते हैं जो...

CWG 2022 Badmintion: पीवी सिंधू ने जीता पहला महिला सिंगल्स कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडल

0
कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के बैडमिंटन महिला सिंगल्स फाइनल में सोमवार को भारत की पीवी सिंधु का मुकाबला कनाडा की मिचेल ली के खिलाफ हुआ....

पात्रा चॉल मामला: संजय राउत 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में

0
मुंबई| शिवसेना के राज्यसभा संजय राउत को 22 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. हालांकि, अदालत ने उनके प्रति थोड़ी नरमी...

कोयला घोटाला: पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता और पूर्व संयुक्त सचिव के एस...

0
दिल्ली की एक अदालत ने महाराष्ट्र में एक कोयला खदान के आवंटन में अनियमितताओं से जुड़े मामले में पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता...
%d bloggers like this: