चमोली हादसे का एटमी कनेक्शन! उत्तराखंड सरकार चाहती है जांच हो

उत्तराखंड सरकार चमोली में ग्लेशियर टूटने की वजह पता लगाने के लिए एक डिपार्टमेंट बनाने जा रही है . केंद्र सरकार से यह मांग भी की जाएगी कि वह उस रडार सिस्टम का भी पता लगाए, जो अमेरिका ने 56 साल पहले हिमालय की पहाड़ी में भेजा था.

इसमें परमाणु ऊर्जा (प्लूटोनियम) से चलने वाला कैप्सूल था. इस रडार से चीन की निगरानी की जानी थी. यह बात राज्य के सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने सोमवार को कही.

सतपाल महाराज ने यह भी कहा कि उनके मंत्रालय के अंतर्गत एक विभाग भी बनाया जाएगा जो ग्लेशियर्स की सैटेलाइट से निगरानी और अध्ययन करेगा. माना जा रहा है कि अगर ग्लेशियर प्लूटोनियम में हुए विस्फोट की वजह से टूटा है तो उत्तराखंड और खासतौर पर गंगा नदी में खतरनाक रेडिएशन भी फैल सकता है.

प्लूटोनियम पैक क्या है?
1964 में चीन ने परमाणु परीक्षण किया था. इसके बाद 1965 में अमेरिका ने भारत के साथ मिलकर चीन पर नजर रखने के लिए एक करार किया था. इसके तहत हिमालय में नंदा देवी की पहाड़ी पर एक रडार लगाया जाना था. इसमें परमाणु ऊर्जा से चलने वाला जनरेटर लगा था. इस जनरेटर में प्लूटोनियम के कैप्सूल थे. लेकिन जब ये मशीनें पहाड़ पर ले जाई जा रही थीं, तभी मौसम खराब हो गया. टीम को लौटना पड़ा. मशीन वहीं छूट गईं. बाद में यह ग्लेशियर में कहीं खो गईं.

मशीनें खोने के बाद अमेरिका ने वहां दूसरा सिस्टम लगा दिया था. अब आशंका जताई जा रही है कि चमोली में ग्लेशियर कहीं इसी प्लूटोनियम की वजह से तो नहीं टूटा है. बताया जाता है कि प्लूटोनियम पैक की उम्र करीब 100 साल होती है.

पिछले हफ्ते हुआ था हादसा चमोली जिले के तपोवन इलाके में 7 फरवरी को ग्लेशियर टूटने से ऋषिगंगा और धौलीगंगा नदियों में अचानक बाढ़ आ गई थी. इससे यहां बना NTPC का हाइड्रो पावर प्लांट बह गया था. एक टनल मलबे से भर गई थी, जिसमें अभी भी रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है. इस आपदा में अब तक 56 शव बरामद किए जा चुके हैं. इनके अलावा 22 क्षत-विक्षत मानव अंग भी मिले हैं. इनकी शिनाख्त DNA जांच से ही होगी.

Related Articles

Latest Articles

IPL 2024 GT Vs PBKS: अपने घर में हारी पंजाब किंग्स, गुजरात ने लगाया...

0
पंजाब किंग्स और गुजरात टायटंस के बीच मुल्लापुर स्टेडियम में लो स्कोरिंग मैच खेला गया. पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब किंग्स ने 143 रनों...

राशिफल 22-04-2024: आज सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य

0
मेष-: नौकरी में अफसरों का सहयोग मिलेगा.तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे.कार्यक्षेत्र में बदलाव हो सकता है. परिश्रम अधिक रहेगा. मित्रों का सहयोग मिलेगा. वाणी...

22 अप्रैल 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 22 अप्रैल 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

शादी के कार्ड पर क्‍यों ल‍िखा होता है ‘चिं’ और ‘सौ. का’- जानिए क्या...

0
शादी के कार्ड पर क्‍यों ल‍िखा होता है 'चिं' और 'सौ. का': आजकल भले ही लोग अंग्रेजी में छपने वाले शादी के कार्ड्स में...

IPL 2023 RCB Vs KKR: आखिरी गेंद में जीता कोलकाता, आरसीबी को एक रन...

0
कोलकाता नाइट राइडर्स ने आईपीएल 2024 में अपना पांचवा जीत हासिल कर ली है. रविवार को ईडन गार्डन कोलकाता में खेले गए रोमांचक मुकाबले...

मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर! डायरेक्ट टैक्स से खजाने में आए 19.58 लाख...

0
मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर आई है. चालू वित्त वर्ष सरकारी खजाने के लिए बेहतर साबित हो रहा है. सरकार की टैक्स से...

सांसद राहुल गांधी की तबीयत बिगड़ी, सतना और रांची का दौरा रद्द

0
कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी की तबीयत बिगड़ने की वजह से उनका मध्य प्रदेश का सतना का दौरा रद्द कर...

उत्तराखंड: हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति गुसाईं बीजेपी में शामिल

0
रविवार को उत्तराखंड कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति गुसाईं ने भाजपा का दामन थाम लिया. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र...

उधमसिंहनगर: बरात में भिड़े दूल्हा और दुल्हन पक्ष, 4 के फूटे सिर-वापस लौटी बरात

0
रुद्रपुर| उधमसिंहनगर ज़िले के रुद्रपुर में बरात में डीजे और शादी की रस्म को लेकर दूल्हा और दुल्हन पक्ष के लोग आपस में भिड़...

बाबा रामदेव को सुप्रीम कोर्ट से एक और झटका, योग शिविरों के लिए देना...

0
सुप्रीम कोर्ट से योग गुरु बाबा रामदेव को एक और झटका लगा है. इस बार सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव के पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट...