ओवैसी का मोदी सरकार पर निशाना, चीन के साथ टकराव के समय कहीं दिख नहीं रहा शीर्ष नेतृत्व


हैदराबाद| ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने चीन के साथ जारी सीमा विवाद के लिए सरकार पर निशाना साधा है. ओवैसी ने कहा है कि हमारी सशस्त्र सेना सीमा पर चीन की सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की चुनौती से निपटने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रही हैं लेकिन हमारा टॉप लीडरशिप इस चुनौतीपूर्ण समय में कहीं दिख नहीं रहा है. चीन के अतिक्रमण को लेकर ओवैसी पहले भी केंद्र सरकार पर निशाना साध चुके हैं.

ट्वीट के जरिए पीएम मोदी पर साधा निशाना
हैदराबाद के सांसद ने अपने एक ट्वीट में कहा, ‘बॉर्डर पर पीएलए से निपटने के लिए हमारी सशस्त्र सेनाएं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रही हैं. सेना के साथ किसी तरह का संकट नहीं है बल्कि चिंता इस बात की है कि ऐसे चुनौतीपूर्ण समय में हमारा शीर्ष राजनीतिक नेतृत्व कहीं दिख नहीं रहा है. सीमा विवाद के बारे में पीएमओ ने कई सप्ताह तक कुछ बोला क्यों नहीं?’ ओवैसी ने कहा, ‘हो सकता है कि उन्हें जब मोर को दाना चुगाने से जब फुरसत मिले तो वह देशवासियों को इस बारे में कुछ कहें या चीन का नाम लेने का साहस जुटाएं.’

सोमवार रात हुई फायरिंग की घटना
बता दें कि गत सोमवार को पूर्व लद्दाख के पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी हिस्से में हुई फायरिंग की घटना के बाद भारत और चीन के बीच तनाव अपने चरम पर पहुंच गया है. चीन ने भारतीय सैनिकों पर वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पार करने और अपने गश्ती दल की तरफ फायरिंग करने का आरोप लगाय है. चीन के इन आरोपों का भारतीय सेना ने खारिज किया है. भारतीय सेना ने अपने एक बयान में कहा कि न तो उसने एलएसी पार की औ न ही उसकी तरफ से फायरिंग की गई. सेना ने कहा कि चीन के सैनिक उसके एक अग्रिम पोस्ट के काफी करीब आ गए और जब उसने उन्हें रोकने की कोशिश की तो पीएलए के जवानों ने हवा में गोलियां चलाईं.

विदेश मंत्रियों के बीच मास्को में हुई बैठक
इस बीच, सीमा पर शांति एवं सौहार्द कायम करने के लिए भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की एक लंबी बैठक गुरुवार की रात मास्को में हुई. दोनों देशों के विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी एक संयुक्त बयान में कहा गया है कि सीमा पर शांति एवं सद्भाव कायम करने के लिए भारत एवं चीन के बीच एक पांच सूत्रीय फॉर्मूले पर सहमति बनी है. दोनों देश सीमा पर बातचीत के लिए जो तंत्र मौजूद है उसका उपयोग है. भारत और चीन के विदेश मंत्रियों ने माना है कि सीमा पर विवाद दोनों देशों के हित के लिए ठीक नहीं है.

यह भी पढ़ें -  क्या आप जानते हैं शनिदेव की ये 16 विशेषताएं

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,250FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

उत्तराखंड: बांज की विलप्त हो रही प्रजातियों पर टूटी नींद,संरक्षण के प्रयास हुए शुरू

0
दुनिया में बांज की कई प्रजातियां विलुप्ति की कगार पर हैं. बांज का महत्व समझते हुए वन विभाग ने इसकी प्रजातियों के संरक्षण के...

इस मंदिर में झूला झूलती हैं देवी दुर्गा, मां की रखवाली में पहरा देते...

0
झुला देवी मंदिर रानीखेत शहर से 7 कि.मी. की दुरी पर स्थित एक लोकप्रिय पवित्र एवम् धार्मिक मंदिर है. यह मंदिर माँ दुर्गा को...

क्या आप जानते हैं शनिदेव की ये 16 विशेषताएं

0
शनिदेव अत्यंत विशिष्ट देव हैं. वे ग्रह भी है और देवता भी.... उनका प्रताप ऐसा है कि वे राजा को रंक और रंक को...

राशिफल 09-12-2022: आज का दिन इन राशियों पर रहेगा अनुकूल, पढ़े सबका राशिफल

0
मेष-: एक आध्यात्मिक व्यक्ति आशीर्वाद देगा और मन की शांति लाएगा. बिना विशेषज्ञ की सलाह के निवेश करेंगे तो नुकसान हो सकता है. बेवजह...

09 दिसम्बर 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 09 दिसम्बर 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

दो दिवसीय प्रवास पर देहरादून पहुंची राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, कई परियोजनाओं का किया शिलान्यास

0
गुरुवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू दो दिवसीय प्रवास पर देहरादून पहुंच गई हैं. उनके आगमन के दौरान सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए....

उत्तराखंड: बागेश्वर में दर्दनाक हादसा, तीन महिलाओं समेत चार लोगों की मौत

0
उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में गुरुवार शाम दर्दनाक हादसा हो गया. कनौली-शामा सड़क पर एक कार गहरी खाई में जा गिरी. हादसे में तीन...

मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव: मुलायम सिंह यादव की विरासत संभालेंगी डिंपल यादव, सपा को मिली...

0
समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव की विरासत अब उनकी बहू डिंपल यादव संभालेंगी क्योंकि उन्होंने मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में भाजपा उम्मीदवार को...

नैनीताल हाईकोर्ट ने फेसबुक पर लगाया 50 हजार रुपये का जुर्माना, 16 फरवरी तक...

0
बुधवार को नैनीताल हाईकोर्ट ने तय समय में जवाब दाखिल नहीं करने पर फेसबुक पर 50 हजार का जुर्माना लगाया. मुख्य न्यायाधीश विपिन सांघी...

रुद्रप्रयाग: पंचकेदार में सर्वोपरी है मदमहेश्वर धाम, होती है शिव की नाभि की पूजा

0
गढ़वाल के सुरम्य पर्वतांचल में स्थित मदमहेश्वर पंचकेदार में सर्वोपरी है. पंचकेदार में केदारनाथ,मदमहेश्वर, रुद्रनाथ, तुंगनाथ और कल्पेश्वर शामिल हैं। इन पांच केदारों में...
%d bloggers like this: