हॉकी लीजेंड चरणजीत सिंह का निधन, 1964 टोक्यो ओलंपिक में जीता था स्वर्ण पदक

भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान चरणजीत सिंह का गुरुवार सुबह पांच बजे निधन हो गया. वे 91 साल के थे. ऊना में उन्होंने अपने घर पर अंतिम सांस ली. चरणजीत पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे थे. चरणजीत के नेतृत्व में ही भारतीय टीम ने 1964 में टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था. चरणजीत अर्जुन अवार्ड और पद्मश्री से भी सम्मानित किए जा चुके हैं. आज शाम चार बजे ऊना के स्वर्गधाम में उनका अंतिम संस्कार होगा.

स्कूली शिक्षा के दौरान ही हॉकी खेलना शुरू किया
जानकारी के मुताबिक, चरणजीत सिंह ऊना जिला मुख्यालय के पीरनिगाह रोड पर मैड़ी में रहते थे. उनका जन्म 13 फरवरी 1931 को हुआ था. उन्होंने पंजाब के गुरदासपुर और लायलपुर से स्कूली पढ़ाई पूरी की थी. स्कूली शिक्षा के दौरान ही चरणजीत ने हॉकी खेलना शुरू कर दिया था. इसके बाद लुधियाना से एग्रीकल्चर से स्नातक की पढ़ाई की.

1950 में भारतीय टीम में शामिल हुए चरणजीत
साल 1949 में चरणजीत पंजाब यूनिवर्सिटी की हॉकी टीम में शामिल हुए. उनके प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें यूनिवर्सिटी टीम का कप्तान बनाया गया. धीरे-धीरे राष्ट्रीय स्तर पर चरणजीत का नाम उभर कर आया. 1950 में उन्हें भारतीय हॉकी टीम में चुना गया. 1951 में चरणजीत भारतीय टीम के साथ पाकिस्तान दौरे पर भी गए थे.

1962 एशियन गेम्स में जीता था सिल्वर मेडल
चरणजीत को रोम ओलंपिक के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया था. हालांकि, फाइनल से पहले वह चोटिल हो गए थे और खिताबी मुकाबला नहीं खेल पाए थे. फाइनल में पाकिस्तान ने भारत को हराकर गोल्ड मेडल जीता था. साल 1961 में चरणजीत भारतीय हॉकी टीम के उपकप्तान बने. 1962 में वह एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल जीतने वाली टीम इंडिया का भी हिस्सा रहे. इसके लिए 1963 में उन्हें अर्जुन अवॉर्ड से नवाजा गया.

1964 ओलंपिक फाइनल में पाकिस्तान से लिया था बदला
1964 में चरणजीत के नेतृत्व में ही टीम इंडिया फाइनल में पहुंची और पाकिस्तान से 1960 ओलंपिक का बदला लिया. खिताबी मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 1-0 से हराया और गोल्ड मेडल जीता. ओलपिंक गोल्ड जीतने के बाद 1964 में ही चरणजीत को सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित किया था.

इसके अलावा भी चरणजीत को राज्यस्तरीय और अन्य सम्मान मिले. वह हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, शिमला में शारीरिक शिक्षा विभाग के निदेशक पद पर भी रहे. वह पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे.

Related Articles

Latest Articles

रुद्रप्रयाग: केदारनाथ धाम के पीछे पहाड़ में आया एवलॉन्च, देखिए वीडियो

0
केदारनाथ धाम के पीछे की पहाड़ियों पर एक बार फिर से एवलांच हुआ है. बताया जा रहा है कि ये जगह केदारनाथ मंदिर से...

प्रदेश में बागवानी विकास की योजनाओं को धरातल पर लाये जाने के लिये मिशन...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को बागवानी विकास की योजनाओं को धरातल पर लाये जाने के लिये मिशन मोड में कार्य करने के...

भारत में होगा 71वां मिस वर्ल्ड ब्यूटी कम्पटीशन, यहां है पूरी डिटेल

0
मिस वर्ल्ड 2023 ब्यूटी पेजेंट समारोह का आयोजन भारत में किया जाएगा. गुरुवार को पिछले साल की मिस वर्ल्ड केरोलिना बीलास्का ने नई दिल्ली...

देहरादून: अपर मुख्य सचिव वित्त ने सभी विभागों को पूँजीगत परिव्यय में वृद्धि के...

0
अपर मुख्य सचिव आनंदवर्धन ने सभी विभागों को पूँजीगत परिव्यय में वृद्धि के निर्देश दिए हैं. एसीएस ने राज्य सरकार के सभी विभागों को...

नए संसद भवन पर हेमलता के सहारे छाई ऐपण कला ने अपनी राहें अलग...

0
बता दें की भारत के नए संसद भवन में कुमाऊं की ऐपण कला को स्थान दिया गया है। अब देशभर के सांसद उत्तराखंड की...

क्या सारा अली दादी शर्मिला के नक्शेकदम पर चलकर क्रिकेटर से रचाएंगी शादी ?

0
बता दें की बॉलीवुड एक्ट्रेस सारा अली खान इन दिनों अपनी फिल्म ‘जरा हटके जरा बचके’ को लेकर सुर्खियों में बनी हुई हैं। सारा...

जोशीमठ भू-धंसाव: राहत और पुनर्वास के लिए भारतीय स्टेट बैंक ने सीएम धामी को...

0
जोशीमठ में भू-धंसाव वाले क्षेत्र से विस्थापित लोगों के राहत और पुनर्वास के लिए भारतीय स्टेट बैंक द्वारा गुरूवार को उत्तराखण्ड राज्य आपदा राहत...

नई पीढ़ी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि प्राइम का सफल परीक्षण

0
भारत ने अपनी सुरक्षा स्थिति को मजबूत करते हुए नई मिसाइल का परीक्षण किया है. नई पीढ़ी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि प्राइम का गुरुवार...

Love Jihad in Uttarakhand: नवाब ने गुड्डू बनकर हिन्दू लड़कियों को प्रेम जाल में...

0
देवभूमि उत्तराखंड में लव जिहाद के मामले पर मचा बवाल अभी शांत भी नहीं हो पा रहा है कि तब तक दूसरा मामला सामने...

2000 के नोट हो रहे जमा, 3.6 लाख करोड़ के नोटों में से आधे...

0
19 मई को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 2000 रुपये के नोटों को सर्कुलेशन से वापस लेने का ऐलान किया था. केंद्रीय बैंक ने...