15-18 साल की उम्र के किशोरों के वैक्‍सीनेशन के सरकार के फैसले पर एम्स के वरिष्ठ महामारी रोग विशेषज्ञ ने सवाल उठाए

देशभर में ओमिक्रोन के खतरे और कोविड- 19 की तीसरी लहर की आशंका के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार देर रात राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन में 15-18 साल की उम्र के किशोरों के लिए भी वैक्‍सीनेशन का ऐलान किया और कहा कि वैक्‍सीनेशन को लेकर कोई भी फैसला वैज्ञानिकों से विचार-विमर्श के आधार पर ही लिया जाता है.

लेकिन अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के वरिष्ठ महामारी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर संजय के. राय ने सरकार के इस फैसले को ‘अवैज्ञानिक’ करार देते हुए कहा कि इससे कोई अतिरिक्त फायदा नहीं होगा.

डॉक्टर संजय के. राय ने इस संबंध में प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को टैग करते हुए ट्वीट भी किया, जिसमें उन्‍होंने लिखा, ‘मैं राष्ट्र की नि:स्वार्थ सेवा और सही समय पर सही निर्णय लेने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का बड़ा प्रशंसक हूं. लेकिन मैं बच्चों के टीकाकरण के उनके अवैज्ञानिक निर्णय से पूरी तरह निराश हूं.’

यह भी पढ़ें -  एंटीलिया कांड के बाद मुकेश अंबानी परिवार फिर मिली धमकी

इस संबंध में अपना दृष्टिकोण स्‍पष्‍ट करते हुए उन्‍होंने कहा कि वैक्‍सीनेशन का मकसद या तो कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम है या मरीज के गंभीर स्थिति में पहुंचने अथवा संक्रमण की वजह से उसकी मृत्यु को रोकना है. वैक्‍सीन के बारे में हमारे पास अभी जो जानकारी है, उसके मुताबिक वैक्‍सीन संक्रमण के मामलों में कोई महत्‍वपूर्ण कमी लाने में समर्थ नहीं हैं. दुनिया के कई देशों में वैक्‍सीन का बूस्‍टर डोज लगवाने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहे हैं.

यह भी पढ़ें -  Covid19: देश में 24 घंटे में मिले 14,092 नए मामले, एक्टिव केस 1.16 लाख

ब्रिटेन का उदहारण देते हुए उन्‍होंने कहा कि यूरोप के इस देश में बड़ी संख्‍या में वैक्‍सीनेशन के बाद भी रोजाना संक्रमण के 50 हजार से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं. इससे साबित होता है कि वैक्‍सीनेशन कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में मददगार नहीं है, लेकिन यह संक्रमण की वजह से मरीज के गंभीर स्थिति में पहुंचने और इसकी वजह से उसकी मृत्‍यु को रोकने में प्रभावी है.

बच्‍चों में कोविड-19 के संक्रमण को लेकर उन्‍होंने कहा कि ऐसे मामलों में गंभीरता बहुत कम केस हैं. जो आंकड़े उपलब्‍ध हैं, उसके अनुसार कम उम्र के बच्‍चों व किशोरों में कोविड-19 के संक्रमण के कारण प्रति 10 लाख की आबादी पर दो मौतों का रिकॉर्ड है, जबकि अतिसंवेदनशील आबादी में यह आंकड़ा कहीं अधिक है. यहां प्रति 10 लाख की आबादी पर 15,000 लोगों की मौत का रिकॉर्ड है.

यह भी पढ़ें -  Independence Day 2022: हर त्यागी और बलिदानी को नमन करने का अवसर, लाल किले से पीएम मोदी के भाषण की मुख्य बातें

वैक्‍सीनेशन के माध्यम से इनमें से 80-90 प्रतिशत मौतों को रोका जा सकता है, जिसका अर्थ है कि प्रति 10 लाख की आबादी पर 13,000 से 14,000 मौतों को रोका जा सकता है. ऐसे में जब जोखिम और लाभ का विश्‍लेषण किया जाता है तो उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर किशोरों के वैक्‍सीनेशन के फैसले में लाभ की बजाय जोखिम अधिक नजर आता है और इसलिए बच्चों का टीकाकरण शुरू करने से कोई भी उद्देश्‍य हासिल

एम्स में वयस्कों और बच्चों पर ‘कोवैक्सीन’ टीके के परीक्षणों के प्रधान जांचकर्ता और ‘इंडियन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन’ के अध्यक्ष राय ने कहा कि इस निर्णय पर अमल करने से पहले बच्चों का टीकाकरण शुरू कर चुके देशों के आंकड़ों का भी विश्लेषण करना चाहिए.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,242FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

म्यांमार: नोबेल पुरस्कार विजेता आंग सान सू ची को भ्रष्टाचार के आरोप में 6...

0
बैंकॉक|..... सोमवार को सेना शासित म्यांमार की एक अदालत ने देश की अपदस्थ नेता आंग सान सू ची को भ्रष्टाचार के चार और...

भ्रष्टाचार और परिवारवाद पर राहुल की बोलती बंद, कहा नो कमेंट…..

0
सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 76वें स्वतंत्रता दिवस पर कहा कि जब देश अमृत काल में प्रवेश कर रहा है तो इस समय...

स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ: सीएम धामी ने गैरसैंण विधानसभा भवन परिसर में आयोजित कार्यक्रम...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर ग्रीष्मकालीन राजधानी, भराड़ीसैंण, गैरसैंण विधानसभा भवन परिसर में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग...

एंटीलिया कांड के बाद मुकेश अंबानी परिवार फिर मिली धमकी

0
एंटीलिया कांड के बाद एक बार फिर से देश के बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी और उनके परिवार को धमकी दी गई. इस बार रिलाइंस...

स्वतंत्रता दिवस पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दी देश को शुभकामनाएं, लेकिन सरकार...

0
स्वतंत्रता दिवस पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने देश को शुभकामनाएं दीं. इस मौके पर उन्होंने देशवासियों से कहा कि, पिछले 75 साल में...

फहराया तिरंगा: लाल किले से पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान इन मुख्य...

0
पूरा देश 75वें स्वतंत्रता दिवस के पूरे होने का जश्न मना रहा है. इस खास मौके पर पीएम ने लाल किले की प्राचीर पर...

जवानों ने पेश किया देशभक्ति का अद्भुत नजारा, सियाचिन के बर्फीले शिखर पर गर्व...

0
76वें स्वतंत्रता दिवस पर पूरा देश देशभक्ति की भावना से सराबोर है. कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी और अरुणाचल प्रदेश से लेकर गुजरात के कच्छ...

हिमाचल प्रदेश: चंबा जिले में महसूस किए भूकंप के झटके, 2.5 मापी गई तीव्रता

0
हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में सोमवार को कम तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूकंप से किसी के हताहत होने या...

Independence Day 2022: हर त्यागी और बलिदानी को नमन करने का अवसर, लाल किले...

0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजादी के 75 साल पूरे होने के मौके पर आजादी के आंदोलन और स्वतंत्रता के बाद राष्ट्र निर्माण में योगदान...

सीएम धामी ने स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में किया...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में ध्वजारोहण किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय एकता...
%d bloggers like this: