13 अप्रैल से शुरू होगा नया संवत्सर – 2078, राजा और मंत्री होंगे मंगल

चैत्र मास के शुक्ल पक्ष के प्रथम दिन ही सूर्योदय के समय ब्रह्मा जी ने पृथ्वी की रचना की थी. यही मुख्य कारण है कि, पंचांग अनुसार हर वर्ष चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा अर्थात प्रथम तिथि के साथ ही, हिन्दू नव वर्ष का प्रारंभ भी होता है और इसी दिन से नया संवत्सर लागू होता है.

वर्ष 2021 में दिनांक 13 अप्रैल, मंगलवार से नव संवत्सर 2078 आरंभ होगा. और इसी दिन गुड़ी पड़वा भी है. यह संवत्सर 2078 है, जिसका नाम राक्षस है.

परंतु मंगलवार से प्रारंभ हो रही प्रतिपदा के कारण इस संवत का राजा क्रूर ग्रह मंगल होगा. मंगल दंगल भी कराता है और मंगल भी करता है. पंचांग की गणना से देखें तो इस बार 13 अप्रैल मंगलवार को आनंद संवत्सर का आरंभ हो रहा है. चैत्र शुक्ल प्रतिपदा गुड़ी पड़वा पर 13 अप्रैल को अमृतसिद्धि योग में नव संवत्सर आनंद का आरंभ होगा. मंगलवार के दिन वर्ष का आरंभ होने से वर्ष के राजा मंगल होंगे. मंत्री का पद भी मंगल के पास रहेगा.

क्या होता है नवसंवत्सर-

नया वर्ष लगने पर नया संवत्सर भी प्रारंभ होता है. जैसे बारह माह होते हैं उसी तरह 60 संवत्सर होते हैं. संवत्सर अर्थात बारह महीने का कालविशेष. सूर्यसिद्धान्त अनुसार संवत्सर बृहस्पति ग्रह के आधार पर निर्धारित किए जाते हैं. 60 संवत्सरों में 20-20-20 के तीन हिस्से हैं जिनको ब्रह्माविंशति (1-20), विष्णुविंशति (21-40) और शिवविंशति (41-60) कहते हैं.

60 संवत्सर : संवत्सर को वर्ष कहते हैं: प्रत्येक वर्ष का अलग नाम होता है. कुल 60 वर्ष होते हैं तो एक चक्र पूरा हो जाता है. वर्तमान में प्रमादी नामक संवत्सर है. 13 अप्रैल से आनंद नामक संवत्सर शुरू होगा.

संवत्सर का नाम इस प्रकार हैं:- प्रभव, विभव, शुक्ल, प्रमोद, प्रजापति, अंगिरा, श्रीमुख, भाव, युवा, धाता, ईश्वर, बहुधान्य, प्रमाथी, विक्रम, वृषप्रजा, चित्रभानु, सुभानु, तारण, पार्थिव, अव्यय, सर्वजीत, सर्वधारी, विरोधी, विकृति, खर, नंदन, विजय, जय, मन्मथ, दुर्मुख, हेमलम्बी, विलम्बी, विकारी, शार्वरी, प्लव, शुभकृत, शोभकृत, क्रोधी, विश्वावसु, पराभव, प्ल्वंग, कीलक, सौम्य, साधारण, विरोधकृत, परिधावी, प्रमादी, आनंद, राक्षस, नल, पिंगल, काल, सिद्धार्थ, रौद्रि, दुर्मति, दुन्दुभी, रूधिरोद्गारी, रक्ताक्षी, क्रोधन और अक्षय.

जैसा कि मंगलवार से नया संवत्सर शुरू होने के कारण इस संवत्सर का राजा और मंत्री मंगल हैं.
मंगल को युद्ध का देवता कहा जाता जाता है. यह हिंसा, दुर्घटना, भूकंप, विनाश, शक्ति, सशस्त्र बलों, सेना, पुलिस, इंजीनियरिंग, अग्निशमन, शल्य चिकित्सा, कसाई, छिपकर हत्या करने वाला, दुर्घटना, अपहरण, बलात्कार, उपद्रव, सामाजिक और राजैनतिक अस्थिरता के कारक ग्रह हैं. विक्रम संवत 2078 के राजा मंगल होने से इस साल आंधी-तूफान का भी जोर रहेगा. मतलब लोग महामारी से मुक्त होंगे परंतु उपद्रव और प्राकृतिक घटनाओं से परेशान रहेंगे. यह वर्ष पूरी दुनिया को अच्छी और बुरी घटनाओं से प्रभावित करेगा तथा अप्रिय घटनाएं भी होंगी. कई देशों में तनाव और आपसी टकराव की बमबारी भूंकप पहाड़ों से आपदाएं आती हुई नजर आएंगी.

Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,243FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

Ind Vs SA 2 T20I: टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को 16 रन से...

0
रविवार टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका को गुवाहाटी में खेले गए दूसरे टी20 मैच में 16 रन से हराकर 3 मैचों की सीरीज में...

महाराष्ट्र: सीएम एकनाथ शिंदे को मिली जान से मारने की धमकी, आत्मघाती धमाके की...

0
महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की जान को बड़ा खतरा बताया जा रहा है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को आत्मघाती...

रामपुर तिराहा गोलीकांड: सीएम धामी ने शहीद राज्य आंदोलनकारियों को दी श्रद्धांजलि

0
रविवार को सीएम धामी ने शहीद स्थल रामपुर तिराहा मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश में उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलकारी शहीदों की पुण्य स्मृति में आयोजित कार्यक्रम में...

पार्टी की मौजूदा व्यवस्था में बदलाव नहीं ला सकते हैं मल्लिकार्जुन खड़गे: शशि थरूर

0
कांग्रेस के अध्यक्ष चुनाव से पहले शशि थरूर ने रविवार को बताया कि मल्लिकार्जुन खड़गे जैसे नेता पार्टी की मौजूदा व्यवस्था में बदलाव क्यों...

सपा के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव की स्थिति गंभीर, गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल...

0
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव की स्थिति गंभीर हो गई है. सांस लेने में दिक्कत होने की वजह से उन्हें गुरुग्राम...

फोन को प्लेन में क्यों रखा जाता है ‘फ्लाइट मोड’! जानिए इसके पीछे का...

0
जब भी हम प्लाइट से ट्रेवल करते हैं तो यात्रा शुरू करने से पहले फ्लाइट अटेंडेंट की तरफ से कुछ दिशा-निर्देश दिए जाते हैं....

कुछ दिन पहले दिया था विवादित बयान: बिहार की नीतीश सरकार में कृषि मंत्री...

0
लगातार अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले बिहार की नीतीश कुमार सरकार में कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे...

सिद्धू मोसेवाला हत्याकांड: लॉरेन्स गैंग का दीपक टीनू पुलिस हिरासत से फरार

0
पंजाब पुलिस की हिरासत से सिद्धू मोसेवाला हत्याकांड का एक शूटर और लॉरेन्स बिश्नोई गैंग का गैंगस्टर फरार हो गया है. पुलिस हिरासत से...

Road Safety World Series Final: सचिन तेंदुलकर की इंडिया लीजेंड्स ने दूसरी बार जीता...

0
इंडिया लीजेंड्स ने रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज 2022 के फाइनल मैच में श्रीलंका लीजेंड्स को 33 रनों से हराकर दूसरी बार खिताब पर कब्जा...

उत्तराखंड: उत्तरकाशी में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 2.5 रही तीव्रता

0
उत्तरकाशी| उत्तराखंड स्थित उत्तरकाशी में जनपद मुख्यालय में रविवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूकंप के झटकों के बाद लोग घरों के...
%d bloggers like this: