हिमालय की गोद में बसा है मां ‘पूर्णागिरि मंदिर’, जानिए कैसे पड़ा इस शक्तिपीठ का झूठे का मंदिर नाम

पूर्णागिरी मंदिर, समुद्र तल से 3000 मीटर की ऊंचाई पर, उत्तराखंड के टनकपुर से लगभग 17 किमी दूर है. मंदिर को शक्तिपीठ माना जाता है और यह 108 सिद्ध पीठों में से एक है. ऐसा माना जाता है कि इसी स्थान पर सती माता की नाभि गिरी थी. पूर्णागिरी को पुण्यगिरि के नाम से भी जाना जाता है. मंदिर शारदा नदी के पास स्थित है. पूर्णागिरी मंदिर अपने चमत्कारों के लिए भी खासा जाना जाता है.

1632 में गुजरात के एक व्यापारी चंद्र तिवारी ने चंपावत के राजा ज्ञानचंद के साथ शरण ली थी. उनके सपनों में मां पुण्यगिरि दिखाई दी थी, जिसमें उन्होंने एक मंदिर का निर्माण करने के लिए कहा था. तब से आज तक मंदिर में जोरों शोरों के साथ पूजा पाठ की जाती है और भक्तों की भी काफी संख्या में देखने को मिलती है.

चैत्र नवरात्रि यहां मनाया जाने वाला सबसे बड़ा त्योहार है. यहां एक मेला भी आयोजित किया जाता है, जहां भारत के अनगिनत भक्त मेले में शामिल होते हैं. इस मंदिर को एक और नाम से जाना जाता है, जिसके बारे में आपको शायद ही पता होगा. मंदिर को झूठे का मंदिर भी कहते हैं. चलिए आपको इस मंदिर दिलचस्प बातें बताते हैं.

झूठे मंदिर की कहानी-:
पूर्णागिरी मंदिर से लौटते समय झूठे का मंदिर की भी पूजा की जाती है. ऐसा कहा जाता है कि एक व्यापारी ने मां पूर्णागिरी से वादा किया था कि अगर उसकी पुत्र की इच्छा पूरी हुई तो वह एक सोने की वेदी का निर्माण करेगा. उनकी इच्छा देवी ने प्रदान की थी. लालच आते ही व्यापारी पगला गया और उसने सोने की परत चढाने के साथ तांबे की एक वेदी बना डाली. ऐसा भी कहा जाता है कि जब मजदूर मंदिर को ले जा रहे थे तो उन्होंने कुछ देर आराम करने के लिए मंदिर को जमीन पद रख दिया. उन्होंने कितना मंदिर को उठाने की कोशिश की, लेकिन मंदिर उठ न सका. व्यापारी को मां द्वारा की जाने वाली ये वजह समझ आ गई और उसने मांफी मांगने के बाद वेदी के साथ मंदिर बनवा डाला.

पूर्णागिरी मंदिर जाने से पहले भैरों बाबा के दर्शन करें
मल्लिकागिरी, कालिकागिरी और हमला चोटियों से घिरा, पूर्णागिरी मंदिर. भक्त पूर्णागिरी मंदिर के लिए निकलते समय भैरों बाबा के दर्शन करना जरूरी समझते हैं. लोगों का मानना है कि भैरों बाबा की अनुमति से ही भक्त आगे बढ़ते चले आते हैं.

पूर्णागिरी मंदिर के पास की देखने लायक जगह –
अवलाखान या हनुमान चट्टी इस मंदिर के पास स्थित है, जिसे ‘बंस की चराई’ पार करने के तुरंत बाद आसानी से जाया जा सकता है. यहां आप टनकपुर शहर और कुछ नेपाली गांवों को भी देख सकते हैं. इस मंदिर के पास ही बुराम देव मंडी स्थित है जो पर्यटकों के बीच भी काफी लोकप्रिय है.

पूर्णागिरी मंदिर कैसे पहुंचे-:
टनकपुर से चलने योग्य सड़क थुलीगढ़ तक जाती है. वहां से दो किमी पैदल चलकर मंदिर पहुंचा जा सकता है. टनकपुर निकटतम रेलवे स्टेशन है, जो पूर्णदेवी मंदिर से लगभग 18 किमी दूर है. मंदिर से लगभग 145 किमी दूर पंतनगर पास का हवाई अड्डा है. दिल्ली हवाई अड्डा मंदिर से लगभग 368 किमी दूर है.

Related Articles

विज्ञापन

Latest Articles

झारखंड: जामताड़ा में बड़ा रेल हादसा, ट्रेन की चपेट में आने से 12 की...

0
झारखंड के जामताड़ा से दिल दहला देने वाली खबर सामने आ रही है. जानकारी के मुताबिक ट्रेन की चपेट में आने से 12 लोगों...

देहरादून: सीएस राधा रतूड़ी ने दी जिलाधिकारियों को जनपदों में संचालित हर योजना के...

0
देहरादून| सीएस राधा रतूड़ी ने राज्य के सीमान्त गांवों में इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास के साथ ही कौशल विकास, आजीविका प्रशिक्षण एवं मानव संसाधन विकास पर...

बीसीसीआई का ईशान किशन और श्रेयस अय्यर पर बड़ा एक्शन! सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की...

0
बीसीसीआई ने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट वाले खिलाड़ियों की नई लिस्ट जारी कर दी है. इसमें बीसीसीआई ने बड़ा एक्शन लेते हुए ईशान किशन और श्रेयस...

रामपुर: पूर्व सांसद जयाप्रदा अदालत से फरार घोषित, कोर्ट ने पुलिस को खोजकर हाजिर...

0
रामपुर| यूपी के रामपुर की एमपी-एमएलए मजिस्ट्रेट ट्रायल कोर्ट ने मंगलवार को पूर्व सांसद और अभिनेत्री जयाप्रदा को कोर्ट में हाजिर नहीं होने पर...

देहरादून: स्वच्छ और स्वस्थ दून के कर्म पथ पर निकले छात्र

0
स्वच्छ दून स्वस्थ दून को धरातल पर उतारने के लिए छात्र अपने कर्म पथ पर निकल पड़े हैं और गली मोहल्ले स्कूल और बाज़ारों...

देहरादून: त्यूणी मार्ग पर बड़ा हादसा, अनियंत्रित कार गहरी खाई में गिरी-दो बच्चों सहित...

0
देहरादून के विकासनगर में त्यूणी- अटाल मार्ग पर बुधवार को दर्दनाक हादसा हो गया। एक कार अनियंत्रित होकर 500 मीटर खाई में गिर गई. दुर्घटना...
अखिलेश यादव

सीबीआई ने अखिलेश यादव को भेजा समन, 29 फरवरी को पूछताछ के लिए बुलाया,...

0
समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव को केंद्रीय अन्वेषण एजेंसी की ओर से नोटिस दी गई है. जानकारी के मुताबिक अवैध माइनिंग केस में...

देहरादून: एम.आई.टी. की छात्राओं ने की सीएम धामी से भेंट

0
देहरादून| बुधवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी से उत्तराखंड विधानसभा की कार्यवाही का अवलोकन करने आये महादेवी इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (एम.आई.टी.) की छात्राओं ने...

हिमाचल में अभी बाकी है हलचल! सीएम सुक्खू का इस्तीफे से इनकार

0
शिमला| हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस में जारी सियासी संकट और इस्तीफे की खबरों के बीच मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बड़ा बयान दिया है....

हिमाचल विधानसभा से बीजेपी के 15 विधायक सस्पेंड

0
हिमाचल में जारी सियासी हलचल के बीच विधानसभा से विपक्ष के नेता जयराम ठाकुर सहित 15 सदस्यों को निलंबित कर दिया गया है. सदन...