इन लोगों से छिन सकता है फैमिली पेंशन का अधिकार, जानें क्या हैं नियम!

केंद्र सरकार देश में कई परिवारों को फैमली पेंशन के जरिए मदद करती है. नौकरी से रिटायर होने के बाद पेंशन लेने के लिए सरकार द्वारा कुछ नियम बनाए गए है. इन नियमों के मुताबिक अगर किसी पेंशनधारी की मौत हो जाती है तो उसके परिवार को उसकी मृत्यु के बाद फैमिली पेंशन मिलती है.

लेकिन आपको बता दें कि केंद्र सरकार के रक्षा मंत्रालय की ओर से फैमिली पेंशन में एक बड़ा बदलाव किया गया है. रक्षा मंत्रालय के भूतपूर्व सैनिक कल्याण विभाग ने पेंशन और पेंशनर कल्याण विभाग के सर्कुलर को लागू करने का आदेश जारी किया है.

दरअसल, 16 जून 2021 को पेंशन और पेंशनर कल्याण विभाग (डीओपी एंड पीडब्लू) ने एक अहम शर्त का जिक्र करते हुए बताया था कि फैमिली पेंशन पाने वाले सदस्य से ये अधिकार छिना जा सकता है.

यह भी पढ़ें -  बिहार: बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री सुभाष सिंह का निधन, दिल्ली के एम्स में ली अंतिम सांस

इसके मुताबिक फैमिली पेंशन पाने वाले सदस्य पर सरकारी कर्मचारी की हत्या का आरोप लगता है या ऐसे किसी अपराध के लिए भड़काने का आरोप लगता है तो ऐसी परिस्थिति में परिवार के किसी अन्य पात्र सदस्य को पेंशन दी जा सकती है.

16 जून 2021 से होगा लागू
रक्षा मंत्रालय के भूतपूर्व सैनिक कल्याण विभाग ने 05 जनवरी 2022 को सशस्त्र बलों के पेंशनभोगियों के लिए डीओपी एंड पीडब्ल्यू के ज्ञापन में आवश्यक परिवर्तनों सहित निहित प्रावधानों को लागू करने के संबंध में आदेश जारी कर दिया है. यह प्रावधान 16 जून 2021 से लागू होगा.

यह था पुराना नियम
अभी तक Central Civil Services (Pension) Rules, 1972 के नियम 54 के उप नियम (11 C) के अनुसार, यदि कोई व्यक्ति जो सरकारी कर्मचारी या पेंशनभोगी की मृत्यु पर पारिवारिक पेंशन प्राप्त करने के लिए पात्र होता था, पर सरकारी कर्मचारी/पेंशनभोगी की हत्या करने या इस तरह के अपराध के लिए उकसाने का आरोप लगता था तो इस संबंध में उस आपराधिक कार्यवाही का फैसला आने तक पेंशन को निलंबित कर दिया जाता था.

यह भी पढ़ें -  जम्मू-कश्मीर: पहलगाम में आईटीबीपी जवानों की बस हादसे का शिकार, 7 की मौत

जानिए क्या हैं फैमिली पेंशन के नए नियम
फैमिली पेंशन पाने वाले व्‍यक्ति पर सरकारी कर्मचारी की हत्‍या या उसके लिए उकसाने का आरोप लगने पर परिवार के ही अन्‍य किसी पात्र सदस्‍य को तक तब फैमिली पेंशन देनी शुरू की जाएगी, जब तक की आरोपी पर कोई अंतिम फैसला ना जाए.

यह भी पढ़ें -  एसबीआई ने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका, होम लोन 0.50 फीसदी किया महंगा-अब इतना देना होगा ब्‍याज

ऐसे केसों में ऐसे आपराधिक मामलों में लिप्‍त व्‍यक्ति के अलावा परिवार के किसी अन्‍य पात्र सदस्‍य को पेंशन का भुगतान रोक दिया जाता था, तब तक की उस क्राइम प्रोसिडिंग पर फैसला ना आ जाए. साथ ही इन आपराधिक मामलों का दोष साबित हो जाने पर उस व्‍यक्ति को फैमिली पेंशन पाने से बेदखल कर दिया जाता था.

उस स्थिति में, सरकारी कर्मचारी की मृत्यु की तारीख से परिवार के अन्य पात्र सदस्य को पारिवारिक पेंशन देय हो जाती थी. हालांकि अगर संबंधित व्यक्ति बाद में आरोप से मुक्त कर दिया जाता था, तो उस व्यक्ति को सरकारी कर्मचारी की मृत्यु की तारीख से परिवार पेंशन देय हो जाती थी.

साभार-न्यूज 18

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

हल्द्वानी: 38 साल बाद ‘सियाचिन हीरो’ चंद्रशेखर हरबोला पंचतत्व में विलीन, बेटियों ने दी...

0
हल्द्वानी| लांस नायक चंद्रशेखर हरबोला का अंतिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ आज रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया. शहीद लांसनायक चंद्रशेखर...

सीएम धामी ने लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर दी...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 1984 में सियाचिन में ऑपरेशन मेघदूत के दौरान शहीद हुए लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित...

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक पर 3 कमांडो बर्खास्त

0
भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक के मामले में गृह मंत्रालय ने एक्शन लेते हुए 3 कमांडो को सर्विस...

बढ़ते कोरोना के मामलों को देख डीजीसीए सख्त, एयरलाइन्स को दिए ये निर्देश

0
देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए सख्त हो गया है. डीजीसीए ने एयलाइन्स को निर्देश दिए...

क्या अब 5 साल तक के बच्चों की भी लेनी होगी ट्रेन टिकट! जानिए...

0
कई लोग ट्रेन से यात्रियों के साथ सफर करते हैं. बच्चों के साथ आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे कई सुविधाएं प्रदान करती है,...

यूपी: लखनऊ में अनोखी चोरी, कैडबरी के गोदाम में धावा बोलकर चोर 17 लाख...

0
आपने आज तक चोरी की कितनी ही खबरें और कहानियां पढ़ी और सुनी होंगी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चोरी की एक...

धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों में किया फेरबदल

0
धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों के कार्यों में फेरबदल किया है. शासन की ओर से बुधवार को इसके...

घी संक्रांति 2022: उत्तराखंड में हर्षोल्लास के साथ मनाई जा रही है घी संक्रांति,...

0
उत्तराखंड की संस्कृति और विरासत अपने आप में कई ऐसे पर्वों को भी समेटे हुई है, जिनका यहां की संस्कृति में खास महत्व है....

हिमाचल प्रदेश: कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष पवन काजल भाजपा में...

0
शिमला| बुधवार को हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष पवन काजल भाजपा में शामिल हो गए हैं. उनके अलावा, कांग्रेस के नालागढ़ से...

बीजेपी ने अपने संसदीय बोर्ड में किया बड़ा बदलाव, नितिन गडकरी- शिवराज सिंह चौहान...

0
2024 आम चुनाव के मद्देनजर बीजेपी ने अपने संसदीय बोर्ड में बड़ा बदलाव किया है. नए संसदीय बोर्ड के ऐलान की खास बात यह...
%d bloggers like this: