बिहार चुनाव में एलजेपी की जेडीयू से पटती नहीं भाजपा के बिना कटती नहीं

आज बात शुरू की जाए उससे पहले यह चंद लाइनें बहुत महत्वपूर्ण है ‘तुमसे पटती भी नहीं, तुम्हारे बिना कटती भी नहीं’. बिहार विधानसभा चुनाव के लिए यह कहावत मौजूदा परिवेश में फिट बैठ रही है.

चुनाव के लिए पहले चरण की नामांकन प्रक्रिया भी शुरू हो गई है लेकिन अभी भी ‘एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर ऐसा पेंच फंसा हुआ है कि भाजपा, जेडीयू और एलजेपी अभी तक एक साथ चुनाव लड़ने में अपना गणित नहीं बैठा पाए हैं’.

बहरहाल भाजपा और जेडीयू में सीटों के बंटवारे को लेकर फाइनल हो चुका है, संभव है आज घोषणा भी हो सकती है ? लेकिन सबसे बड़ी दुविधा में एलजेपी है. लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान साफतौर पर कह चुके हैं कि उन्हें जेडीयू और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का साथ पसंद नहीं है. चिराग का कहना है कि वे भाजपा के साथ तो मिलकर चुनाव लड़ना चाहते हैं लेकिन नीतीश कुमार के साथ गठबंधन नहीं चाहते.

आपको बता दें कि ‘सीएम नीतीश कुमार ने इस बार बिहार चुनाव में दलितों को रिझाने के लिए की गई घोषणाओं से चिराग पासवान आग बबूला हैं, एलजेपी को डर सता रहा है कहीं ऐसा न हो कि जेडीयू साथ मिलकर चुनाव लड़ने से उसके दलित वोटर उससे छिटक जाएं’.

बता दें कि लोक जनशक्ति पार्टी बिहार में अपने आप को दलितों की सबसे बड़ी पार्टी बनाने में जुटी हुई है. भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अभी तक एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान से पांच बार मुलाकात की. वहीं एक बार वह गृहमंत्री अमित शाह से भी मिले थे.

लेकिन भाजपा, जेडीयू और बीजेपी का सीटों को लेकर झगड़ा खत्म नहीं हो सका है. सबसे बड़ी बात यह है कि जेडीयू और एलजेपी के नेता कह चुके हैं कि हमें एक दूसरे से गठबंधन नहीं करना है. लेकिन ‘लोजपा को भारतीय जनता पार्टी साथ गठबंधन करने में अपना सौदा खरा दिखाई दे रहा है’.


एलजेपी भाजपा के साथ चुनाव में गठबंधन के तौर पर दिखना चाहती है
आज रविवार को संभव है लोक जनशक्ति पार्टी बिहार में चुनाव लड़ने को लेकर अपना फाइनल फैसला सुना सकती है. ‘अगर एलजेपी एनडीए गठबंधन से बाहर जाती हैं तो चिराग पासवान अपने उम्मीदवार भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ नहीं उतारेंगे, एलजेपी अपने को बीजेपी के गठबंधन के तौर पर ही पेश करना चाहती है, लोजपा पीएम नरेंद्र मोदी, रामविलास पासवान और चिराग पासवान के नाम पर लड़ेगी, लेकिन जेडीयू के खिलाफ हर सीट पर वह उम्मीदवार उतार सकती है’.

चिराग पासवान और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान केंद्र की सत्ता पर अपनी भागीदारी तो देना चाहते हैं लेकिन बिहार में एनडीए का हिस्सा नहीं बनना चाहते हैं, यानी जेडीयू से एलजेपी अलग होना चाहती है. शनिवार देर शाम तक भाजपा आलाकमान ने एलजेपी को मनाने का प्रयास किया, लेकिन बात बन नहीं पाई.

हालांकि भाजपा और एलजेपी के साथ होने वाली आखिरी महत्वपूर्ण बैठक केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की तबीयत अचानक खराब हो जाने की वजह से टालनी पड़ी. संभव है कि एलजेपी आज अपने उम्मीदवार उतारने की घोषणा भी कर दे.

अगर एलजेपी ऐसा करती है तो बिहार में विधानसभा चुनाव के लिए एनडीए को बड़ा झटका भी लग सकता है. बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सीट बंटवारे को लेकर चिराग पासवान ने काफी कड़े तेवर दिखाए हैं और वह अकेले 143 सीटों पर चुनाव लड़ने के संकेत भी दे चुके हैं.


भाजपा और जेडीयू के बीच सीटों के बंटवारे को आखिरकार हुई डील !
बिहार चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी और जेडीयू में भी सीटों के बंटवारे को लेकर कई दिनों से आपसी खींचतान चल रहा था. लेकिन अब जो संकेत मिलने लगे हैं उससे कयास लगाए जा रहे हैं कि आप दोनों के बीच डील हो चुकी है. ‘संभव है बिहार में भाजपा और जेडीयू आज अपनी-अपनी सीटों का एलान कर सकते हैं’.

‘यहां भी नीतीश कुमार भाजपा से पहले सौदेबाजी करने में लगे हुए थे. यानी वे भाजपा से कुछ अधिक सीट चाहते थे, लेकिन इस बार भाजपा 50-50 फार्मूले पर अड़ी रही’.

यह भी पढ़ें -  दिल्ली में रोहिंग्या शरणार्थियों को नहीं मिलेंगे घर, गृह मंत्रालय ने खबरों का किया खंडन

आखिरकार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अपनी जिद छोड़नी पड़ी है. बिहार में पहले चरण के मतदान के लिए एक अक्टूबर से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है मगर अब तक एनडीए में सीटों को लेकर बंटवारा नहीं हुआ है, जिससे असमंजस की स्थिति बनी हुई है.

पिछले कई दिनों से बीजेपी और जेडीयू में सीट बंटवारे को लेकर कई दौर की बातचीत हो चुकी है. तय फॉर्मूले के मुताबिक जेडीयू 122 सीटों पर और भारतीय जनता पार्टी 121 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. जेडीयू बीजेपी की कई परंपरागत सीटों पर भी दावेदारी ठोक रही थी, मगर अब उन्होंने यह मांग भी छोड़ दी है.

यह भी पढ़ें -  Covid19: कोरोना के नए मामलों में बड़ी गिरावट, 24 घंटे में मिले 8,813 संक्रमित

बिहार में 243 विधानसभा सीटों के लिए 28 अक्टूबर से तीन चरणों में मतदान होना है, जबकि नतीजे 10 नवंबर को आएंगे.


शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार


Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

राशिफल 18-08-2022: आज इन राशियों के पूरे होंगे सभी काम

0
मेष: आज के दिन संतान की तरफ से कोई शुभ समाचार मिल सकता है. सामाजिक कार्यों में सहयोग दें. आर्थिक स्थिति बेहतर होगी. वृष:...

18 अगस्त 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 18 अगस्त 2022 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

मुख्य सचिव ने की उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा

0
देहरादून| बुधवार को मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सचिवालय में उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा की....

सीएम धामी ने कोटद्वार में अग्निवीरो के भर्ती कार्यक्रम में उपस्थित होकर युवाओं का...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी एवं महिला बाल विकास मंत्री रेखा आर्य के...

उत्तराखंड में जन्माष्टमी की छुट्टी में हुआ बदलाव, आदेश जारी

0
देहरादून| उत्तराखंड में कृष्ण जन्माष्टमी की छुट्टी अब 19 अगस्त को घोषित की गई है. पहले यह छुट्टी 18 अगस्त को तय की गई...

हल्द्वानी: 38 साल बाद ‘सियाचिन हीरो’ चंद्रशेखर हरबोला पंचतत्व में विलीन, बेटियों ने दी...

0
हल्द्वानी| लांस नायक चंद्रशेखर हरबोला का अंतिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ आज रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया. शहीद लांसनायक चंद्रशेखर...

सीएम धामी ने लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर दी...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 1984 में सियाचिन में ऑपरेशन मेघदूत के दौरान शहीद हुए लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित...

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक पर 3 कमांडो बर्खास्त

0
भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक के मामले में गृह मंत्रालय ने एक्शन लेते हुए 3 कमांडो को सर्विस...

बढ़ते कोरोना के मामलों को देख डीजीसीए सख्त, एयरलाइन्स को दिए ये निर्देश

0
देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए सख्त हो गया है. डीजीसीए ने एयलाइन्स को निर्देश दिए...

क्या अब 5 साल तक के बच्चों की भी लेनी होगी ट्रेन टिकट! जानिए...

0
कई लोग ट्रेन से यात्रियों के साथ सफर करते हैं. बच्चों के साथ आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे कई सुविधाएं प्रदान करती है,...
%d bloggers like this: