नंदीग्राम की हार के बाद भी क्‍या सीएम बनी रहेंगी ममता! जानें क्‍या कहता है नियम

तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजों में बड़ी जीत हासिल की है. विधानसभा चुनाव में भले ही तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी को पटखनी दी हो लेकिन सूबे की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी को नंदीग्राम से हार का सामना करना पड़ा है.

पश्चिम बंगाल की सबसे हॉट सीट मानी जा रही नंदीग्राम के बारे में जैसा अनुमान लगाया जा रहा था, परिणाम भी वैसा ही दिखाई दिया. शुरुआत में ये स्‍पष्‍ट ही नहीं हो सका कि नंदीग्राम से शुवेंदु अधिकारी की जीत हुई है या फिर ममता बनर्जी ने बाजी मारी है.

बता दें कि न्‍यूज एजेंसी एएनआई ने पहले ममता बनर्जी ने जीत का दावा किया था, लेकिन रविवार शाम को ममता बनर्जी ने खुद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में अपनी हार स्‍वीकार कर ली.

इन सबके बीच तृणमूल कांग्रेस के एक ट्वीट ने नंदीग्राम में जीत-हार को और भी ज्‍यादा भ्रामक बना दिया जब पार्टी की ओर से कहा गया कि अभी मतगणना जारी है. अगर ममता बनर्जी नंदीग्राम से हार चुकी हैं तो ये सवाल उठता है कि क्या ममता बनर्जी मुख्यमंत्री बनी रहेंगी? हालांकि चुनावी विश्‍लेषकों का कहना है कि वह निश्चित रूप से एक बार फिर पश्चिम बंगाल की बागडोर अपने हाथ में लेंगी.

अगर बात करें तो भारत के तीन सबसे अधिक आबादी वाले राज्यों के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, योगी आदित्यनाथ और उद्धव ठाकरे, सभी अपने-अपने राज्यों की विधान परिषदों के सदस्य हैं जबकि विधान सभा का हिस्सा नहीं है. सीधे शब्दों में कहें तो वे मुख्यमंत्री बनने के लिए विधानसभा चुनाव नहीं जीते हैं. इनमें से बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ही एक ऐसे मुख्‍यमंत्री है जिन्‍होंने 36 साल पहले विधानसभा चुनाव लड़ा था.

बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कभी आम चुनाव नहीं लड़ा है. हालांकि ममता बनर्जी के साथ ऐसा नहीं है क्‍योंकि पश्चिम बंगाल में विधान परिषद नहीं है. हालांकि तृणमूल कांग्रेस ने इस तरह के ढांचे को बनाने की बात कही है.

अनुच्छेद 164 कहता है, एक मंत्री जो लगातार छह महीने तक किसी राज्‍य के विधानमंडल का नहीं होता है, वह इस समय सीमा के खत्‍म होने के बाद मंत्री नहीं बन सकता. इसका मतलब है कि ममता बनर्जी के पास सांसद बनने के लिए 6 महीने का समय है. पश्चिम बंगाल में क्‍योंकि विधान परिषद नहीं है ऐसे में ममता बनर्जी को 6 महीने के अंदर किसी खाली सीट से नामांकन दाखिल करना होगा और उप-चुनाव जीतकर सांसद बनना होगा.

इस बीच, रविवार को अपनी हार स्‍वीकार करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, मैं नंदीग्राम के फैसले को स्वीकार करती हूं. मैं संवैधानिक पीठ के पास जाऊंगी. उन्‍होंने कहा इस बार के विधानसभा चुनाव में टीएमसी ने एक शानदार जीत हासिल की है और बीजेपी चुनाव हार गई है. ममता ने कहा, बीजेपी ने गंदी राजनीति की, चुनाव आयोग को लक्ष्मण रेखा को जरूरत है.




Related Articles

Latest Articles

17 अप्रैल 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 17 अप्रैल 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

परीक्षा पास करने के बाद किसे मिलता है कौन सा पद! जानिए कौन बनता...

0
मंगलवार को संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सर्विस 2023 परीक्षा के परिणामों का ऐलान कर दिया है. यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा 2023 तीन...

रणदीप सुरजेवाला पर चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई, 48 घंटे प्रचार पर रोक लगाई

0
कांग्रेस के दिग्गज नेता और सांसद रणदीप सुरजेवाला पर चुनाव आयोग ने कार्रवाई की है. आयोग ने 48 घंटे उनके चुनाव प्रचार पर रोक...

छत्तीसगढ़: कांकेर जंगलों में पुलिसकर्मियों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 18 माओवादियों के मारे...

0
छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले से बड़ी खबर सामने आ रही है. यहां के पुलिसकर्मियों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ जारी है. इस मुठभेड़ में...

UPSC में पिथौरागढ़ के संदीप सिंह ने 906वीं रैंक की हासिल, पिता चलाते हैं...

0
संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित सिविल सर्विसेज परीक्षा 2023 में धारचूला के चौदास घाटी के गांव सोसा में रहने वाले संदीप सिंह...

लोकसभा चुनाव 2024: आप के स्टार प्रचारकों में सुनीता केजरीवाल का भी नाम, मनीष...

0
मंगलवार को लोकसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है. स्टार प्रचाकरों की सूची में सांसद संजय...

रोहित-द्रविड़ और अगरकर की टी20 विश्व कप की टीम को लेकर दो घंटे की...

0
भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा, मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और चयन समिति के अध्यक्ष अजीत अगरकर ने पिछले हफ्ते मुंबई में भारत...

आरबीआई की गाइडलाइन, ग्राहक को पूरी जानकारी देने के बाद ही दें लोन-कुछ भी...

0
अब बैंक और एनबीएफसी कंपनियों की ओर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने आंखे तरेरना ली हैं. एक नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा है कि...

मुख्तार अंसारी की मौत पर डीजीपी प्रशांत कुमार ने तोड़ी चुप्पी, दिया ये बयान

0
यूपी के डीजीपी प्रशांत कुमार ने माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की मौत पर पहली बार कोई टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि मुख्तार अंसारी...

ये हैं उत्तराखंड के सबसे उम्रदराज मतदाता, उम्र जानकर चौंक जाएंगे

0
लोकसभा चुनाव की मतदाता सूची में अनेक मतदाता शतकवीर होंगे, लेकिन स्वामी परमानंद पुरी एक विशेष मतदाता हैं जिनकी आयु 135 वर्ष है। उनका...