सरकारी विभागों को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए मोदी सरकार का एक बार फिर ‘रिटायर फरमान’

कोरोला संकटकाल में लापरवाह और भ्रष्ट अधिकारी कर्मचारियों के लिए मोदी सरकार ने एक बार फिर सख्त रुख अपनाया है. यह कोई पहला मौका नहीं है जब केंद्र सरकार ने ऐसे गैर जिम्मेदाराना कर्मचारियों के लिए ऐसा प्लान तैयार किया है. हम आपको बता दें कि वर्ष 2014 में केंद्र की सत्ता पर जब मोदी सरकार काबिज हुई थी तभी से सरकारी विभागों को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए नीति अपनाई गई थी. अभी तक 6 वर्षों में केंद्र की भाजपा सरकार ने ऐसे सैकड़ों अधिकारियों-कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर दिया है.

केंद्र की नीतियों का पालन करते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी अपने यहां बड़े पैमाने पर राज्य के सरकारी कर्मचारियों को समय से पहले ही जबरन रिटायर दे दिया था. केंद्र सरकार के इस नए फरमान से सरकारी विभागों में हड़कंप मचा हुआ है. इसको लेकर मोदी सरकार ने ऐसे सरकारी कर्मचारियों की पहचान करने के निर्देश भी दे दिए हैं. साथ ही मोदी सरकार भ्रष्ट और अयोग्य कर्मचारियों को रिटायर करने पर भी जोर दे रही है.

केंद्र की मोदी सरकार सरकारी कर्मचारियों के रिकॉर्ड की जांच करने वाली है. इसके लिए सरकार ने दिशा-निर्देश भी दे दिए हैं. इसके तहत अक्षमता और भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच की जाएगी. वहीं जो लोग भ्रष्ट, पाए जाते हैं, उन्हें सेवानिवृत्त किया जाएगा. भ्रष्ट, और सुस्त अधिकारियों की सूची को केंद्र सरकार अंतिम रूप देने की तैयारी में जुटी हुई है.


केंद्र सरकार के निर्देश के बाद कार्मिक विभाग रजिस्टर बनाने में जुटा
केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश जारी होने के बाद कार्मिक विभाग ऐसे लापरवाह अधिकारी-कर्मचारियों के लिए रजिस्टर बनाने में जुट गया है. केंद्र सरकार का कहना है कि सर्विस रिकॉर्ड जांच के बाद तय किया जाएगा कि वो सही से काम कर रहे हैं या उन्हें लोकहित में समय से पहले रिटायर किया जाए. वहीं कार्मिक मंत्रालय ने सभी सचिवों से कहा कि इसके लिए रजिस्टर तैयार करे, जिसमें यह सभी जानकारी दर्ज की जाए. इसके तहत केंद्र सरकार ने सरकारी सेवा में 30 साल पूरे कर चुके या 50-55 साल की उम्र के कर्मचारियों की सेवा रिकॉर्ड की जांच करने के लिए कहा है.

केंद्रीय संस्थानों से ऐसे अधिकारियों की रिपोर्ट मांगी गई थी.कोरोना संक्रमण के दौरान इन अधिकारियों की फाइलें आगे नहीं बढ़ सकीं.वजह उस समय इन मामलों के लिए रिप्रेजेंटेशन कमेटी गठित नहीं हो पाई थी.अब केंद्र ने कमेटी का नए सिरे से गठन कर दिया है.


केंद्र सरकार की तर्ज पर राज्य सरकारों ने भी यह नियम लागू कर रखा है
मोदी सरकार अपने इस कदम से मौजूदा व्यवस्था में सुधार लाना चाहती है.गौरतलब है कि केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने अपने 27 सीनियर अधिकारियों को जबरन रिटायरमेंट पर भेज दिया था.केंद्र की भ्रष्टाचार मुक्त सरकारी विभागों की तर्ज पर ही कई राज्य सरकारों ने भी यह नियम लागू कर रखा है. पिछले साल उत्तर प्रदेश सरकार ने करीब छह सौ अफसरों को जबरन रिटायरमेंट देने का फैसला किया था.उत्तर प्रदेश के बाद दिल्ली, हरियाणा, महाराष्ट्र, असम और त्रिपुरा के मुख्यमंत्रियों ने भी केंद्र की तर्ज पर अपने प्रदेशों में भ्रष्ट अधिकारियों को रिटायर करने का फरमान सुनाया था.

बता दें कि अब केंद्र सरकार दो साल से तो ऐसे अधिकारियों के वर्क रिपोर्ट हर तीसरे महीने मंगा रही है. बता दें कि ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों की वजह से बहुत सी ऐसी योजनाएं हैं, जो अफसरों की लापरवाही के चलते समय पर पूरी नहीं हो पाती हैं. यही वजह है कि अब केंद्र सरकार अक्षम व भ्रष्ट अधिकारियों को समय से पहले घर भेज रही है.

यह भी पढ़ें -  3 जुलाई 2022 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,229FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

Ind Vs Eng-5th Test-3rd Day: चाय काल तक टीम इंडिया का स्कोर-37/1-कुल बढ़त 169

0
आज टीम इंडिया और इंग्लैंड की टीमों के बीच पांचवें टेस्ट मैच का तीसरा दिन है. टीम इंडिया की पहली पारी मैच के दूसरे...

महाराष्ट्र: फ्लोर टेस्ट से पहले सीएम एकनाथ शिंदे की बड़ी जीत, भाजपा के राहुल...

0
महाराष्ट्र में नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सहयोग से बनी सरकार के नेतृत्व में स्पीकर का चुनाव...

काशीपुर: पिता-पुत्र ने क्रिकेट बैट से कुत्ते को पीटकर मार डाला, शिकायतकर्ता ने...

0
उत्तराखंड के काशीपुर से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जिसे सुनकर हर कोई हैरान हो जाएगा. दरअसल राज्य के काशीपुर में...

Covid19: उत्तराखंड में बढ़ी कोरोना की रफ्तार, मिले 54 नए मरीज, एक्टिव केस 323

0
देहरादून| उत्तराखंड में 24 घंटे के भीतर कोरोना के 54 नए मरीज मिले हैं, जबकि 27 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे हैं. वहीं, एक्टिव...

चोल राजवंश कहानी लेकर आ रहे है मणिरत्नम, इस दिन रिलीज ‘पोन्नियन सेल्वन’

0
चार साल के ब्रेक के बाद एक्ट्रेस ऐश्वर्या राय बच्चन बड़े परदे पर कमबैक करने जा रहीं और उनकी कमबैक फिल्म मणिरत्नम निर्देशित...

शरद पवार का तंज, कई समारोह का हिस्सा रहा, लेकिन कभी किसी राज्पाल ने...

0
महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की ओर से राज्य के नए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को मिठाई खिलाते हुए वायरल हुई तस्वीरों पर शरद...

मौका-मौका: एसबीआई जल्द करने वाला है क्लर्क के पदों पर बंपर भर्ती, जानिए पूरी...

0
बैंक में सरकारी नौकरी का सपना संजोए बैठे उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया जल्द ही क्लर्क के पदों पर...

उत्तराखंड: पूर्व कैबिनेट मंत्री की करीबी पर शासन ने कसा जांच का शिकंजा, जानिए...

0
उत्तराखंड के पूर्व कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत की परेशानी कम होने का नाम नही ले रही. अब पूर्व कैबिनेट मंत्री की...

महाराष्ट्र विधानसभा के लिए आज का दिन अहम, शिंदे की अग्निपरीक्षा-होना है स्पीकर का...

0
महाराष्ट्र की शिंदे सरकार के लिए आज का दिन अहम में कितना दम है. आज ये भी तय हो जाएगा कि क्या सच में...

राशिफल 03-07-2022: आज सूर्य देव की कृपा से इन राशियों का चमकेगा भाग्य

0
मेष- आत्मविश्वास भरपूर रहेगा. माता का सानिध्य मिलेगा. कारोबार में वृद्धि होगी. परिश्रम अधिक रहेगा. स्वास्थ्य का ध्यान रखें. क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा की मन...
%d bloggers like this: