नमन: पुण्यतिथि पर याद आए युगपुरुष अटलजी, देश ने अपने लोकप्रिय नेता को दी श्रद्धांजलि

केंद्र की सत्ता में भारतीय जनता पार्टी साल 2014 से विराजमान है. नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री की कमान संभाले हुए हैं. 1980 में स्थापित हुई भाजपा की गिनती आज देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर में सबसे मजबूत पार्टी के रूप में की जाती है. पार्टी को स्थापित करने और बुलंदियों पर पहुंचाने के पीछे ‘युगपुरुष’ का महत्वपूर्ण योगदान रहा.

जी हां हम बात करेंगे राजनीतिक जगत में सबसे लोकप्रिय नेताओं में शुमार रहे अटल बिहारी वाजपेयी का. उनकी गिनती देश के उन गिने चुने नेताओं में होती है, जिन्‍हें सभी पार्टियों का स्‍नेह मिला. आज तीसरी पुण्यतिथि पर अटल जी को देश याद कर श्रद्धांजलि दे रहा है. पूर्व प्रधानमंत्री और ‘भारत रत्न’ वाजपेयी जी को याद करते हुए कई नेताओं ने श्रद्धांजलि दी.

यह भी पढ़ें -  देहरादून: मुख्य सचिव ने की प्रदेश में बनाई जाने वाली नई पार्किंग प्रोजेक्ट्स की प्रगति की समीक्षा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रद्धांजलि अर्पित की. सोमवार सुबह दिल्ली में ‘सदैव अटल स्मृति स्थल’ पर पहुंचकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहां आयोजित प्रार्थना सभा में हिस्सा लिया और श्रद्धांजलि दी. इसके बाद उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने स्मृति स्थल पर पुष्प चढ़ाकर नमन किया.

इस दौरान गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, लोकसभा स्पीकर ओम बिरला समेत भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी याद कर श्रद्धांजलि दी. इसके साथ ही सोशल मीडिया पर लोग, कवि और राजनेता को याद करते हुए उनकी कविताओं के माध्यम से श्रद्धांजलि दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें -  हिंदी सिनेमा की दिग्गज अदाकारा आशा पारेख को मिलेगा इस साल का दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड, 30 सितंबर को दिया जाएगा अवार्ड

गौरतलब है कि 16 अगस्त 2018 को देश के सबसे लोकप्रिय नेताओं में शुमार रहे अटल बिहारी वाजपेयी का दिल्ली के एम्स में लंबी बीमारी के बाद 93 साल की उम्र में निधन हो गया था.

अटल जी भले ही हमारे बीच नहीं है लेकिन आज भी उनके राजनीति के आदर्श उसूल, भाषा शैली, कविताओं को देशवासी नहीं भूल पाए हैं. आपको बता दें कि अटल जी का जन्म मध्य प्रदेश के ग्वालियर में 25 दिसंबर, 1924 को हुआ था. अटल जी के नेतृत्व में ही भारतीय जनता पार्टी ने केंद्र में पहली बार सत्ता संभाली थी.

वाजपेयी सबसे पहले 1996 में 13 दिन के लिए प्रधानमंत्री बने थे और उसके बाद 1998 में उन्होंने केंद्र में 13 महीनों की सरकार चलाई थी. 1999 में वह तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री बने और 2004 में एनडीए की हार तक इस पद पर बने रहे.

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी ने दिए मानसखण्ड कॉरिडोर के काम में तेजी लाने के निर्देश

उनके कार्यकाल में भारत ने परमाणु परीक्षण कर यह क्षमता हासिल की थी. इसके साथ संयुक्त राष्‍ट्र महासभा 1977 के उनके भाषण को अब भी याद किया जाता है, जब हिंदी में उनके भाषण के बाद सभागार तालियों से गूंज उठा था. नेता के साथ देशवासी अटल जी को कवि के रूप में भी पसंद करते हैं.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Advertisement

Advertisement

Stay Connected

58,944FansLike
3,243FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

विश्व पर्यटन दिवस पर पर्यटन के क्षेत्र में राज्य को मिले सम्मान पर सीएम...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को नई दिल्ली में विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर उत्तराखंड को बेस्ट एडवेंचर टूरिज्म डेस्टिनेशन एवार्ड तथा...

उत्तराखंड को मिला बेस्ट टूरिज्म डेस्टिनेशन अवार्ड, पर्यटन के सर्वांगीण विकास के लिए भी...

0
विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर उत्तराखंड राज्य को पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा बेस्ट एडवेंचर टूरिज्म डेस्टिनेशन और पर्यटन के सर्वांगीण विकास के...

कांग्रेस पर्यवेक्षकों ने दी क्लीन चिट, अध्यक्ष पद की रेस से बाहर नहीं गहलोत

0
राजस्थान में कांग्रेस विधायकों की बगावत के बाद जारी सियासी संकट को लेकर पार्टी पर्यवेक्षकों ने अपनी रिपोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज...

मुख्य सचिव ने किया हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम में पुनर्निर्माण कार्यो का निरीक्षण

0
मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने मंगलवार को हेमकुंड साहिब और बद्रीनाथ धाम में यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ ही मास्टर प्लान...

5 दिन में दूसरी बार सीएम धामी पहुंचे दिल्ली, फिर शुरू हुई कैबिनेट विस्तार...

0
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी दिल्ली दौरे पर हैं. सीएम धामी के अचानक दिल्ली जाने पर एक बार फिर हलचल शुरू हो गई...

अंकिता भंडारी हत्या मामला: पटवारी वैभव प्रताप निलंबित, डीएम ने दिए जांच के आदेश

0
पौड़ी| आखिरकार अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले में कोताही बरतने और दूसरे को चार्ज थमाकर अवकाश पर गए पटवारी वैभव प्रताप को निलंबित कर दिया...

राजस्थान संकट पर सचिन पायलट ने तोड़ी चुप्पी, दिया ये बयान

0
राजस्थान में जारी कांग्रेस संकट पर सचिन पायलट ने पहली बार बयान दिया है. सूत्रों का कहना है कि सचिन पायलट ने हाई कमान...

उत्तराखंड शासन ने किए दो आईपीएस अधिकारियों के तबादले

0
देहरादून। उत्तराखंड शासन ने दो वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों का तबादला कर दिया है, साथ ही दोनों अधिकारियों को नवीन तैनाती भी दे दी है....

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के अंतिम संस्कार में शामिल हुए पीएम मोदी,...

0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के अंतिम संस्कार में शामिल हुए. एएनआई के अनुसार शिंजो आबे का...

विश्व पर्यटन दिवस विशेष: देश में कई राज्यों के लिए त्योहार से कम नहीं...

0
हमारे देश में कई ऐसे राज्य हैं जिनकी कमाई का मुख्य आए पर्यटन उद्योग है. इसके साथ पर्यटन से ही लाखों लोगों को रोजगार...
%d bloggers like this: