नेशनल वोटर्स डे: प्रत्याशियों और सरकारों के चयन में मजबूत लोकतंत्र का स्तंभ हैं वोटर्स

लोकतांत्रिक व्यवस्था में आज का दिन किसी उत्सव से कम नहीं है. खास तौर पर जो युवा इस बार पहली बार वोट देने जा रहे हैं उनके लिए यह नया अनुभव भी होने जा रहा है. क्योंकि यह युवा वर्ग पहली बार अपने मनपसंद प्रत्याशियों और सरकार का चयन करने जा रहे हैं. इसके साथ वे लोकतांत्रिक व्यवस्था में भी भागीदार हो जाएंगे. इसी को लेकर आज देश के युवाओं में जोश छाया हुआ है. आइए बात को आगे बढ़ाते हैं. आज 25 जनवरी है. हर साल इसी दिन पूरे देश में राष्ट्रीय मतदाता दिवस (नेशनल वोटर्स डे) मनाया जाता है. इस बार यह दिवस इसलिए महत्वपूर्ण हो जाता है कि पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर आज चुनाव आयोग वोटर्स में जागरूकता जगाने के लिए कई कार्यक्रम आयोजित कर रहा है. सही मायने में यह लोकतंत्र का सबसे बड़ा उत्सव भी है. ‌भारत पूरे विश्व में सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. सुबह से ही सोशल मीडिया पर नेशनल वोटर्स डे को लेकर युवाओं में जोश देखा जा रहा है. हर साल राष्ट्रीय मतदाता दिवस की थीम रखी जाती है. इस बार की थीम है. ‘मजबूत लोकतंत्र के लिए चुनावी साक्षरता’. इस थीम का अर्थ यदि हमें दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को सफल बनाना है तो हमें चुनावी साक्षरता की जरूरत है ज्यादा से ज्यादा लोगों का वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाएं और उन्हे वोट की कीमत बताकर वोट डालने के लिए राजी करें. आपका एक वोट आपके लिए सरकार चुन सकता है यह जज्बा जिस दिन लोगों के मन में आ जाएगा तब देश का लोकतंत्र आगे बढ़ेगा. आइए जानते हैं यह दिवस कब से क्यों मनाया जाता है.

यह भी पढ़ें -  झारखंड क्रिकेट एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष अमिताभ चौधरी का निधन

देश में 25 जनवरी 2011 से राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने की हुई थी शुरुआत

बता दें कि देश में 25 जनवरी 2011 से राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने की शुरुआत हुई थी. इस दिन तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ का शुभारंभ किया. इसका आरंभ 1950 में चुनाव आयोग के 61वें स्‍थापना दिवस पर हुआ. विश्व में भारत जैसे सबसे बड़े लोकतंत्र में मतदान को लेकर कम होते रुझान को देखते हुए राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाने लगा था. इसके मनाए जाने के पीछे निर्वाचन आयोग का उद्देश्य था कि देश भर के सभी मतदान केंद्र वाले क्षेत्रों में हर साल उन सभी मतदाताओं की पहचान की जाएगी, जिनकी उम्र 18 साल हो चुकी होगी. भारत में वोटिंग के लिए 18 साल होने पर युवाओं को मताधिकार प्राप्‍त हो जाता है.

यह भी पढ़ें -  जम्मू-कश्मीर: पहलगाम में आईटीबीपी जवानों की बस हादसे का शिकार, 7 की मौत

इसके बाद वह सभी प्रकार के लोकतांत्रिक चुनावों में वोट डाल सकता है. राष्ट्रीय मतदाता दिवस की शुरुआत का मकसद ज्यादा से ज्यादा मतदाताओं का सूची में नाम जोड़ना, मतदान के लिए प्रेरित करना है. भारतीय संविधान के मुताबिक जनता ही इस अनूठे लोकतंत्र की बुनियाद है, जहां जनता सरकार को चुनती है. इस दिन देश में सरकारों और अनेक सामाजिक संस्थाओं द्वारा लोगों को मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. जिससे देश की राजनैतिक प्रक्रियाओं में लोगों की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित की जा सके.

यह भी पढ़ें -  इंसान से जानवर में मंकीपॉक्स संक्रमण का पहला दुर्लभ मामला, कुत्ते के साथ क्वारंटाइन थे मरीज

–शंभू नाथ गौतम

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

मुख्य सचिव ने की उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा

0
देहरादून| बुधवार को मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सचिवालय में उत्तराखण्ड लैंडस्लाइड मिटिगेशन एंड मैनेजमेंट सेंटर की प्रगति की समीक्षा की....

सीएम धामी ने कोटद्वार में अग्निवीरो के भर्ती कार्यक्रम में उपस्थित होकर युवाओं का...

0
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भूषण, सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी एवं महिला बाल विकास मंत्री रेखा आर्य के...

उत्तराखंड में जन्माष्टमी की छुट्टी में हुआ बदलाव, आदेश जारी

0
देहरादून| उत्तराखंड में कृष्ण जन्माष्टमी की छुट्टी अब 19 अगस्त को घोषित की गई है. पहले यह छुट्टी 18 अगस्त को तय की गई...

हल्द्वानी: 38 साल बाद ‘सियाचिन हीरो’ चंद्रशेखर हरबोला पंचतत्व में विलीन, बेटियों ने दी...

0
हल्द्वानी| लांस नायक चंद्रशेखर हरबोला का अंतिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ आज रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया. शहीद लांसनायक चंद्रशेखर...

सीएम धामी ने लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित कर दी...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने 1984 में सियाचिन में ऑपरेशन मेघदूत के दौरान शहीद हुए लांसनायक चन्द्रशेखर हर्बोला के पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित...

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में हुई चूक पर 3 कमांडो बर्खास्त

0
भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक के मामले में गृह मंत्रालय ने एक्शन लेते हुए 3 कमांडो को सर्विस...

बढ़ते कोरोना के मामलों को देख डीजीसीए सख्त, एयरलाइन्स को दिए ये निर्देश

0
देश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए नागर विमानन महानिदेशालय यानी डीजीसीए सख्त हो गया है. डीजीसीए ने एयलाइन्स को निर्देश दिए...

क्या अब 5 साल तक के बच्चों की भी लेनी होगी ट्रेन टिकट! जानिए...

0
कई लोग ट्रेन से यात्रियों के साथ सफर करते हैं. बच्चों के साथ आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे कई सुविधाएं प्रदान करती है,...

यूपी: लखनऊ में अनोखी चोरी, कैडबरी के गोदाम में धावा बोलकर चोर 17 लाख...

0
आपने आज तक चोरी की कितनी ही खबरें और कहानियां पढ़ी और सुनी होंगी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चोरी की एक...

धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों में किया फेरबदल

0
धामी सरकार ने प्रदेश के तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के विभागों के कार्यों में फेरबदल किया है. शासन की ओर से बुधवार को इसके...
%d bloggers like this: