एनआईए की चार्ज शीट में बड़ा खुलासा- सेना में सिख जवानों को उकसा रहा एसएफजे

नई दिल्ली| राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अमेरिका स्थित अलगाववादी संगठन ‘सिख फॉर जस्टिस’ को लेकर बड़ा खुलासा किया है. जांच एजेंसी की ओर से दायर आरोपपत्र में कहा गया है कि एसएफजे ने अपने खालिस्तानी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए ‘सोची समझी साजिश’ की है और वह भारत के खिलाफ विद्रोह के लिए सेना में काम करने वाले सिख जवानों को उकसाने की कोशिश कर रहा है. यही नहीं, वह कश्मीरी युवकों को भी कट्टरता की तरफ ढेकल रहा है.

एनआईए की चार्जशीट में 16 लोगों के नाम
रिपोर्टों के मुताबिक एनआईए ने अपनी चार्जशीट में एसएफजे के लीडर गुरपतवंत सिंह पन्नून, खालिस्तान टाइगर फोर्स के प्रमुख हरदीप सिंह निज्जर एवं बब्बर खालसा इंटरनेशनल के प्रमुख परमजीत सिंह उर्फ पम्मा सहित 16 लोगों को आरोपी बनाया है. जांच एजेंसी का कहना है कि एसएफजे कश्मीरी युवकों को भी कट्टरता की तरफ ढकेलने की कोशिश करने के साथ साथ कश्मीर को भारत से अलग करने के लिए अपना समर्थन दे रहा है.

किसान आंदोलन का गलत इस्तेमाल कर सकता है एसएफजे
जांच एजेंसी ने यह चार्जशीट ऐसे समय फाइल की है जब देश में नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन कर रहे हैं. ऐसी आशंका जताई जा रही है कि पाकिस्तान के बाहर से संचालित हो रहे एसएफजे एवं अन्य खालिस्तानी संगठन विभाजन के अपने एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए किसान आंदोलन से उपजे आक्रोश का गलत इस्तेमाल कर सकते हैं. बता दें कि पन्नून, निज्जर और परमजीत ‘पम्मा’ को गत जुलाई में गैर-कानूनी गतिविधियां रोधक कानून (यूएपीए) के तहत पहले ही ‘आतंकवादी’ घोषित किया जा चुका है.

भारत के खिलाफ सोशल मीडिया मंचों का कर रहा इस्तेमाल
पन्नून न्यूयॉर्क में, निज्जर कनाडा और ‘पम्मा’ ब्रिटेन में रहता है. यूएपीए के तहत एसएफजे को ‘गैर-कानूनी संस्था’ के रूप में प्रतिबंधित किया गया है. एनआईए ने इस संस्था को ‘खालिस्तानी आतंकवादी संगठन का एक प्रमुख संगठन’ बताया है. एनआईए के सूत्रों का कहना है कि एसफजे फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप एवं यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर भारत के खिलाफ अभियान चलाता रहा है. उसने अपने ‘रेफरंडम 2020’ एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए भारतीय मोबाइल नंबर्स का इस्तेमाल किया है.

अलग-अलग देशों में हैं इनके कार्यालय
‘रेफरेंडम 2020’ केस में एनआईए ने बुधवार को अपनी चार्जशीट विशेष अदालत में दायर की. इसमें एसएफजे के सदस्यों और सहित विदेश स्थित 16 लोगों के नाम हैं. एनआईए ने अपनी जांच में पाया है कि अलगाववादी गुट एसएफजे का गठन ‘मानवाधिकार के लिए काम करने वाले समूह’ की आड़ में हुआ और इसके कार्यालय अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया में हैं. जबकि इसका प्रमुख आतंकवादी संगठन खालिस्तान पाकिस्तान से संचालित हो रहा है.

Related Articles

Latest Articles

पीएम मोदी ने की बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवात रेमल को लेकर समीक्षा...

0
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार शाम बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवात रेमल को लेकर समीक्षा बैठक की. इस दौरान पीएम मोदी ने अधिकारियों...

बेबी केयर सेंटर का मालिक गिरफ्तार, पुलिस एफआईआर में जोड़ सकती है धारा-304

0
रविवार को पूर्वी दिल्ली के विवेक विहार में बच्चों के एक अस्पताल में भीषण आग लगने से 6 नवजात शिशुओं की मौत के मामले...

स्वाति मालीवाल ने आप नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए, यूट्यूबर ध्रुव राठी का भी...

0
आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल और अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव रहे बिभव कुमार के बीच का विवाद थमने का नाम...

मलेशिया मास्टर्स खिताब जीतने से चूकी सिंधु फाइनल में नहीं लांघ पाईं ‘चीनी दीवार’

0
भारत की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधु का 2 साल से खिताबी सूखा बदस्तूर जारी है. सिंधु रविवार को मलेशिया मास्टर्स बैडमिंटन टूर्नामेंट में...

हल्द्वानी: लावारिस सांड की एक बाइक से टक्कर, हादसे में युवक की मौत

0
हल्द्वानी| हल्द्वानी से दुखद घटना की खबर सामने आ रही है. यहां एक लावारिस सांड की एक बाइक से टक्कर हो गई. इस हादसे...

क्या है ‘रेमल’ का मतलब! आखिर कौन तय करता है तूफान का नाम

0
चक्रवार्ती तूफान ‘रेमल’ रविवार (26 मई) की रात पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तट से टकरा सकता है. मौसम विभाग ने कहा है कि...

‘रेमल’ चक्रवात भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील, रविवार रात बंगाल-बांग्लादेश के तटों से टकराएगा

0
चक्रवाती तूफान रेमल रविवार की रात पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के समुद्र तटों पर दस्तक दे सकता है. बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती...

दिल्‍ली: बेबी केयर हॉस्पिटल में आग लगने से 6 किलकारियां हमेशा के लिए खामोश

0
देश की राजधानी दिल्‍ली के विवेक विहार में एक बेबी केयर हॉस्पिटल में आग लगने से 6 किलकारियां हमेशा के लिए खामोश हो गईं....

लोकसभा चुनाव 2024: छठे चरण में 58 सीटों पर मतदान संपन्न, 59.06 फीसदी मतदान...

0
शनिवार को लोकसभा चुनाव के छठे चरण में सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश की 58 सीटों पर मतदान हो चुका है. आठ राज्यों...

रविवार को भगवान सूर्य देवता को जल चढ़ाने के होते हैं कई फायदे, जानिए...

0
हिंदू धर्म में सूर्य को जल देने की परंपरा बहुत पुरानी है जिसे आज भी निभाते हैं. श्रद्धालु हर रोज सूर्य देवता को अर्घ्य...