बड़ी खबर: पीएम -सांसदों की सैलरी में एक साल तक होगी 30 प्रतिशत की कटौती, जानें अब कैसी होगी पे-स्लिप

नई दिल्ली| संसद सदस्य वेतन, भत्ता और पेंशन विधेयक लोकसभा में पास हो चुका है. इसके तहत एक साल तक सांसदों की सैलरी 30 फीसदी कटकर मिलेगी. इसके अलावा प्रत्येक सांसदों को हर साल 5 करोड़ रुपये उनकी सांसद निधि के तहत मिलता है जो अब 2 साल के लिए स्थगित कर दी गई है. इससे बचे पैसों का इस्तेमाल कोरोना वायरस महामारी के कारण पैदा हुई स्थिति से लड़ने के लिए किया जाएगा.

सोमवार को लोकसभा में संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी ने निचले सदन में संसद सदस्यों के वेतन, भत्ता एवं पेंशन संशोधन विधेयक 2020 को पेश किया गया था. यह विधेयक संसद सदस्यों के वेतन, भत्ता एवं पेंशन अध्यादेश 2020 का स्थान लेगा. आर्टिकल 106 के तहत सरकार ने ये संशोधन किया है. जिन सांसदों की सैलरी में एक साल तक कटौती होगी, उनमें प्रधानमंत्री, कैबिनेट मंत्री, राज्यमंत्री और सांसद शामिल हैं. विधेयक के तहत सैलरी में कटौती एक अप्रैल 2020 से अगले वित्तीय वर्ष तक प्रभावी रहेगी.

यह भी पढ़ें -  रेलवे स्टेशन के नाम हमेशा पीले बोर्ड पर ही क्यों लिखे जाते हैं, जानिए इसके पीछे की रोचक वज ह

आइए जानते हैं 30 फीसदी कटौती के बाद अब सांसदों और मंत्रियों को कितनी सैलरी मिलेगी

कितनी है सांसद की सैलरी?
फिक्स्ड सैलरी और भत्ते को जोड़ें तो एक सांसद एक महीने में 2,91,833 रुपये वेतन पाता है, यानी देश को एक सांसद पर सालाना 35 लाख रुपये खर्च करने पड़ते हैं. लेकिन कोविड-19 संकट में 30 फीसदी कटौती के बाद अब एक सांसद को महीने में 70 हजार रुपये बतौर सैलरी मिलेंगे, जो पहले एक लाख थी. सांसदों की सांसद निधि में भी कटौती हुई है. इसे अब 49 हजार कर दिया गया है. पहले ये 70 हजार रुपये प्रतिमाह थी. सांसदों को कार्यालय व्यय भत्ता भी मिलता है. यह पहले 60,000 रुपये था, अब 54,000 रुपये हो गया है. इसमें सांसद 40,000 रुपये सचिवीय सहायता के रूप में और 14,000 रुपये कार्यालय खर्च के रूप में ले सकते हैं.

प्रधानमंत्री और मंत्रियों के भत्ते में कितनी हुई कटौती
मंत्रियों के वेतन और भत्ते (संशोधन) विधेयक, 2020 में समतुल्य भत्ते में कटौती की गई है. प्रधानमंत्री का समतुल्य भत्ता अब 2100 कर दिया गया है. पहले ये 3000 रुपये प्रति माह था. वहीं, कैबिनेट मंत्रियों का समतुल्य भत्ता अब 1400 रुपये प्रतिमाह होगा. ये पहले 2,000 रुपये मासिक था. राज्य मंत्रियों को अब तक 1000 रुपये समतुल्य भत्ता मिलता था, जो अब 700 रुपये होगा.

यह भी पढ़ें -  तुर्किये में आए भूकंप में एक भारतीय लापता, 10 दूरदराज के इलाकों में फंसे-सरकार ने दी जानकारी

वेतन कटौती से कितना पैसा बचेगा
संसद के दोनों सदनों में 790 सांसदों (लोकसभा के 545 और राज्यसभा के 245 सांसद) की व्यवस्था है. वर्तमान समय में लोकसभा में 542 और राज्यसभा में 238 सदस्य हैं. इस तरह से संसद में 780 सांसद हैं और प्रत्येक सांसदों की सैलरी से अब 30 हजार रुपये कटेंगे और इस तरह से हर महीने 2 करोड़ 34 लाख रुपये की बचत होगी.

संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कोविड-19 के कारण उत्पन्न स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. यह कदम उनमें से एक है. उन्होंने कहा कि परोपकार की शुरुआत घर से होती है. ऐसे में संसद सदस्य यह योगदान दे रहे हैं और यह छोटी या बड़ी राशि का सवाल नहीं है, बल्कि भावना का है.

यह भी पढ़ें -  जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती हिरासत में, जानिए पूरा मामला

एमपीलैड पर सरकार ने क्या कहा?
सांसद क्षेत्र विकास निधि (एमपीलैड) के बारे में सदस्यों के सवालों के जवाब में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सांसद निधि को अस्थायी रूप से दो वर्षो के लिए निलंबित किया गया है. उन्होंने कहा कि लोगों की मदद के लिए कुछ कड़े फैसले लेने की जरूरत थी.

कब लाया गया था ये अध्यादेश
इस अध्यादेश को छह अप्रैल को मंत्रिमंडल की मंजूरी मिली थी. सात अप्रैल को ये लागू हुआ था. इस अध्यादेश में कहा गया था कि कोरोना वायरस महामारी ने तुरंत राहत और सहायता के महत्व को प्रदर्शित किया है. इसलिए महामारी को फैलने से रोकने के लिए कुछ आपात कदम उठाए जाने जरूरी हैं.

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,251FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

थारू राजकीय इण्टर कॉलेज पहुंचे सीएम धामी, बच्चों के बीच स्कूली दिनों को याद...

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अपने जनपद खटीमा भ्रमण के दौरान थारू राजकीय इंटर कॉलेज पहुंचकर परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम में प्रतिभाग किया. सीएम...

उत्तराखंड के 2 स्कूलों में 42 बच्चे वायरल फीवर से हुए बीमार, 14 बच्चे...

0
उत्तराखंड के पहाड़ों में एक बार फिर से वायरल बुखार स्कूली छात्र छात्राओं को अपना शिकार बना रहा है. अल्मोड़ा सोमेश्वर क्षेत्र के 2...

तुर्किये में आए भूकंप में एक भारतीय लापता, 10 दूरदराज के इलाकों में फंसे-सरकार...

0
तुर्किये और सीरिया में आए भूंकप से हालात बिगड़ गए हैं. अब तक कुल 11,416 लोगों की मौत हो चुकी है. घायलों की संख्या...

पिथौरागढ़: मुख्य सचिव एसएस संधु ने नैनी सैनी एयरपोर्ट और बेस चिकित्सालय का किया...

0
उत्तराखंड के मुख्य सचिव एसएस संधु ने जनपद के नैनी सैनी एयरपोर्ट एवं पिथौरागढ़ स्थित बेस चिकित्सालय भवन का स्थलीय निरीक्षण किया. मुख्य सचिव...

उत्तराखंड को केंद्र से मिल रही लगातार सौगाते, सीएम धामी ने जताया आभार

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड को विशेष सहायता के तहत 65.92 करोड़ रुपए तथा पूंजीगत परिव्यय के रूप में 72 करोड़ रुपए की...

रेलवे स्टेशन के नाम हमेशा पीले बोर्ड पर ही क्यों लिखे जाते हैं, जानिए...

0
आपने भी कभी न कभी तो ट्रेन में सफर किया ही होगा. लेकिन क्या अपने कभी गौर किया है कि रेलवे स्टेशन के नाम...

सर्दी-जुकाम को जल्दी ठीक करने में कारगर है काली मिर्च, जानें इसके फायदे और...

0
आपको अगर कुछ दिनों से खांसी-जुकाम है, तो आज हम आपको बता रहे हैं खांसी-जुकाम दूर करने का ऐसा घरेलू नुस्खा, जो आपकी शुरुआती...

यूपी: मुरादाबाद में बस स्टेशन के पास लगा लंगूर का पोस्टर, जानिए पूरा मामला

0
यूपी के मुदाराबाद में सरकारी बस स्टेशन पर लंगूर के बड़े-बड़े फोटो के साथ फायर साउंड सेंसर मशीनें लगाई गई हैं. ये इंतजाम वहां...

पीएम मोदी पर बयान देकर बुरे फंसे मल्लिकार्जुन खड़गे, राज्यसभा अध्यक्ष बोले-ये आपको शोभा...

0
राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के एक बयान पर सदन में हंगामा हो गया. खड़गे ने बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी पर...

दिल्ली आबकारी नीति मामला: सीबीआई की बड़ी कार्रवाई, तेलंगाना के सीएम की बेटी के...

0
सीबीआई ने दिल्ली आबकारी नीति मामले में बड़ी कार्रवाई की है. सीबीआई ने हैदराबाद के चार्टर्ड अकाउंटेंट बुच्ची बाबू गोरंटला को बुधवार को गिरफ्तार...
%d bloggers like this: