बड़ी खबर: पीएम -सांसदों की सैलरी में एक साल तक होगी 30 प्रतिशत की कटौती, जानें अब कैसी होगी पे-स्लिप

नई दिल्ली| संसद सदस्य वेतन, भत्ता और पेंशन विधेयक लोकसभा में पास हो चुका है. इसके तहत एक साल तक सांसदों की सैलरी 30 फीसदी कटकर मिलेगी. इसके अलावा प्रत्येक सांसदों को हर साल 5 करोड़ रुपये उनकी सांसद निधि के तहत मिलता है जो अब 2 साल के लिए स्थगित कर दी गई है. इससे बचे पैसों का इस्तेमाल कोरोना वायरस महामारी के कारण पैदा हुई स्थिति से लड़ने के लिए किया जाएगा.

सोमवार को लोकसभा में संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी ने निचले सदन में संसद सदस्यों के वेतन, भत्ता एवं पेंशन संशोधन विधेयक 2020 को पेश किया गया था. यह विधेयक संसद सदस्यों के वेतन, भत्ता एवं पेंशन अध्यादेश 2020 का स्थान लेगा. आर्टिकल 106 के तहत सरकार ने ये संशोधन किया है. जिन सांसदों की सैलरी में एक साल तक कटौती होगी, उनमें प्रधानमंत्री, कैबिनेट मंत्री, राज्यमंत्री और सांसद शामिल हैं. विधेयक के तहत सैलरी में कटौती एक अप्रैल 2020 से अगले वित्तीय वर्ष तक प्रभावी रहेगी.

आइए जानते हैं 30 फीसदी कटौती के बाद अब सांसदों और मंत्रियों को कितनी सैलरी मिलेगी

कितनी है सांसद की सैलरी?
फिक्स्ड सैलरी और भत्ते को जोड़ें तो एक सांसद एक महीने में 2,91,833 रुपये वेतन पाता है, यानी देश को एक सांसद पर सालाना 35 लाख रुपये खर्च करने पड़ते हैं. लेकिन कोविड-19 संकट में 30 फीसदी कटौती के बाद अब एक सांसद को महीने में 70 हजार रुपये बतौर सैलरी मिलेंगे, जो पहले एक लाख थी. सांसदों की सांसद निधि में भी कटौती हुई है. इसे अब 49 हजार कर दिया गया है. पहले ये 70 हजार रुपये प्रतिमाह थी. सांसदों को कार्यालय व्यय भत्ता भी मिलता है. यह पहले 60,000 रुपये था, अब 54,000 रुपये हो गया है. इसमें सांसद 40,000 रुपये सचिवीय सहायता के रूप में और 14,000 रुपये कार्यालय खर्च के रूप में ले सकते हैं.

प्रधानमंत्री और मंत्रियों के भत्ते में कितनी हुई कटौती
मंत्रियों के वेतन और भत्ते (संशोधन) विधेयक, 2020 में समतुल्य भत्ते में कटौती की गई है. प्रधानमंत्री का समतुल्य भत्ता अब 2100 कर दिया गया है. पहले ये 3000 रुपये प्रति माह था. वहीं, कैबिनेट मंत्रियों का समतुल्य भत्ता अब 1400 रुपये प्रतिमाह होगा. ये पहले 2,000 रुपये मासिक था. राज्य मंत्रियों को अब तक 1000 रुपये समतुल्य भत्ता मिलता था, जो अब 700 रुपये होगा.

वेतन कटौती से कितना पैसा बचेगा
संसद के दोनों सदनों में 790 सांसदों (लोकसभा के 545 और राज्यसभा के 245 सांसद) की व्यवस्था है. वर्तमान समय में लोकसभा में 542 और राज्यसभा में 238 सदस्य हैं. इस तरह से संसद में 780 सांसद हैं और प्रत्येक सांसदों की सैलरी से अब 30 हजार रुपये कटेंगे और इस तरह से हर महीने 2 करोड़ 34 लाख रुपये की बचत होगी.

संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कोविड-19 के कारण उत्पन्न स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. यह कदम उनमें से एक है. उन्होंने कहा कि परोपकार की शुरुआत घर से होती है. ऐसे में संसद सदस्य यह योगदान दे रहे हैं और यह छोटी या बड़ी राशि का सवाल नहीं है, बल्कि भावना का है.

एमपीलैड पर सरकार ने क्या कहा?
सांसद क्षेत्र विकास निधि (एमपीलैड) के बारे में सदस्यों के सवालों के जवाब में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सांसद निधि को अस्थायी रूप से दो वर्षो के लिए निलंबित किया गया है. उन्होंने कहा कि लोगों की मदद के लिए कुछ कड़े फैसले लेने की जरूरत थी.

कब लाया गया था ये अध्यादेश
इस अध्यादेश को छह अप्रैल को मंत्रिमंडल की मंजूरी मिली थी. सात अप्रैल को ये लागू हुआ था. इस अध्यादेश में कहा गया था कि कोरोना वायरस महामारी ने तुरंत राहत और सहायता के महत्व को प्रदर्शित किया है. इसलिए महामारी को फैलने से रोकने के लिए कुछ आपात कदम उठाए जाने जरूरी हैं.

Related Articles

Latest Articles

सीएस राधा रतूड़ी ने राफ्टर्स के लिए मार्केट बनाने और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन सिस्टम पर...

0
राफ्टिंग व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने खारास्रोत पार्किंग तृतीय एवं गंगा नदी में पुट इन पॉइंट ब्रह्मपुरी का...

टेक्नॉलजी की मदद से चारधाम यात्रा का सुव्यवस्थित प्रबन्धन तथा स्थायी समाधान: सीएस रतूड़ी

0
चारधाम यात्रा के साथ ही प्रदेश के सभी धार्मिक स्थलों पर आने वाले श्रद्धालुओं हेतु एक फूलप्रूफ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की स्थायी व्यवस्था विकसित करने...

उत्तराखंड में कही सता रही गर्मी, कही बारिश से तबाही का मंजर

0
सोमवार को कपकोट के दोपहर के बाद विभिन्न क्षेत्रों में लगभग एक घंटे तक तेज बारिश हुई। इस दौरान भगेड़ी गधेरा उफान पर आ...

दिल्ली: तीस हजारी कोर्ट में बिभव कुमार को किया गया पेश, आ सकता है...

0
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नज़दीकी सहयोगी बिभव कुमार को दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को तीस हजारी कोर्ट में पेश किया। दरअसल, बिभव...

इंटरव्यू में विपक्ष पर भड़के पीएम मोदी, ‘पिछले 24 साल से गालियां खा-खाकर गाली...

0
लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के बीच पीएम मोदी ने एक न्यूज एजेंसी को इंटरव्यू दिया. जिसमें उन्होंने हर सवाल का जवाब बेबकी से...

अल्मोड़ा: गहरी खाई में गिरी कार, पति, पत्नी-पुत्री की मौत-बेटा घायल

0
अल्मोड़ा| अल्मोड़ा जिले से बड़े हादसे की खबर सामने आ रही है. स्याल्दे विकासखंड में भिकियासैंण-देघाट सड़क पर चौनिया बैंड के पास एक कार...

चारधाम यात्रा: हेली बुकिंग को लेकर IRCTC अधिकारी बता सोशल मीडिया पर जाल...

0
पुलिस द्वारा फर्जी वेबसाइटों पर कड़ी कार्रवाई करने के बाद, साइबर ठगों ने नया तरीका अपनाया है। अब ये ठग खुद को आईआरसीटीसी का...

आतिशी की बढ़ी मुसीबत, राउज एवेन्यू कोर्ट ने किया तलब-जानिए कारण

0
अरविंद केजरीवाल सरकार में मंत्री आतिशी की मुसीबत बढ़ गई है. आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी को मानहानि केस में कोर्ट ने समन...

गुरमीत राम रहीम को हाईकोर्ट ने हत्याकांड मामले में किया बरी, 22 साल पहले...

0
पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने रणजीत सिंह हत्याकांड मामले में बाबा राम रहीम को बड़ी राहत देते हुए उसे दोषमुक्त कर दिया है।...

रेमल चक्रवात से कुछ राज्यों के किसानों को होगा बड़ा फायदा, वैज्ञानिकों ने बताई...

0
बंगाल की खाड़ी में उठा रहा रेमल चक्रवात पश्चिम बंगाल समेत नॉर्थ ईस्ट के हिस्सों में अपना प्रभाव दिखा रहा है। इस चक्रवाती तूफान...