वर्ल्ड रेबीज डे विशेष: रेबीज भी खतरनाक वायरस, इसकी अनदेखी पड़ सकती है भारी

28 सितंबर को पूरी दुनिया एक खतरनाक वायरस को दिवस के रूप में मनाती है.

पिछले कई महीनों से भारत ही नहीं समूचा विश्व कोविड-19 खतरनाक वायरस से जूझ रहा है.

ऐसे में हमें सभी वायरसों से अपने आप को बचाना है. आज हम बात करेंगे एक ऐसे ही खतरनाक वायरस ‘रेबीज’ की.

जी हां आज वर्ल्ड रेबीज डे है. आमतौर पर यह रेबीज जानवरों के काटने से फैलता है.

अधिकांश लोगों का मानना है कि यह कुत्तों के काटने से मनुष्य के शरीर में प्रवेश करता है.

लेकिन हम आपको बता दें कि कुत्तों के अलावा भी कई ऐसे जानवर है जिनके अंदर रेबीज होता है जैसे बिल्ली, बंदर, लंगूर आदि मनुष्य को काट ले तो जानलेवा हो जाता है.

लेकिन यह सच है कि इंसानों में रेबीज के कारण मौत और बीमारी से जुड़े 96 फीसद मामले कुत्तों के काटने की वजह से होते हैं.

यह भी पढ़ें -  यूपी: सीएम योगी को मिली बम से उड़ाने की धमकी

वर्ल्ड रेबीज डे मनाने का उद्देश्य इसकी रोकथाम और लोगों में जागरूकता बढ़ाना है.

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, अफ्रीका और एशिया में होने वाले 95 प्रतिशत मामलों में रेबीज के कारण सालाना 150 से अधिक देशों में 59000 मानव मौतें होती हैं.

रेबीज एक घातक वायरस है जो संक्रमित जानवरों की लार से फैलता है.

रेबीज दरअसल एक वायरल इंफेक्शन है जो आमतौर पर इंफेक्टेड जानवरों के काटने से फैलता है.

यह पालतू जानवरों के चाटने, उनके लार के खून के संपर्क में आने से भी फैलता है.

जरूरी बात यह कि इस जानलेवा बीमारी के लक्षण काफी देर में नजर आते हैं.

यह भी पढ़ें -  Bihar Crisis: नई सरकार में नीतीश ही होंगे सीएम, आरजेडी के पास डिप्टी सीएम और गृह विभाग

जानवर के काटने का हल्का सा भी निशान है तो एंटी रेबीज इंजेक्शन जरूर लगवाना चाहिेए. इस मामले में लापरवाही ठीक नहीं.

यदि समय रहते इलाज न किया जाए या फिर इलाज में देर हो जाए तो ये जानलेवा साबित हो जाता है.

यह संक्रमण केंद्रीय तंत्रिका तंत्र और मस्तिष्क पर हमला करता है
आमतौर पर जानवरों के काटने के बाद लक्षण दिखने के लिए 4 से 12 सप्ताह लगते हैं.

काटने और लक्षणों की शुरुआत के बीच की अवधि को ऊष्मायन अवधि के रूप में वर्णित किया गया है. शुरुआती लक्षण फ्लू के समान हो सकते हैं.

भारत में रेबीज के काफी ज्यादा मामले सामने आते हैं और यह आंकड़ा पूरे विश्व का 36 फीसद है. ये कुछ दिनों तक रह सकते हैं.

यह भी पढ़ें -  तेलंगाना: पंखे से झूलती मिली भाजपा नेता ज्ञानेंद्र प्रसाद की लाश, पुलिस जांच में जुटी

ये हैं रेबीज के लक्षण, रेबीज रोगियों में सिरदर्द, घबराहट, बुखार, बेचैनी, चिंता, भोजन निगलने में परेशानी, भ्रम की स्थिति, ज्यादा लार निकलना, अनिद्रा, पानी से डर, अंग में लकवा मार जाना आदि हैं.

बता दें कि रेबीज एक बेहद घातक वायरस है जो इंसानों और जानवरों को संक्रमित करता है.

यह संक्रमण केंद्रीय तंत्रिका तंत्र और मस्तिष्क पर हमला करता है, और अगर इसके लक्षण दिखने शुरू हो जाएं तो यह घातक हो सकता है.

घबराने की जरूरत नहीं है, अगर आप समय पर सही कदम उठाएंगे तो इस बीमारी को रोका जा सकता है.

सरकारी अस्पतालों में रेबीज के इंजेक्शन निशुल्क लगाए जाते हैं.

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार




Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,244FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

Bihar: 10 अगस्त को नीतीश कुमार लेंगे सीएम पद की शपथ

0
पटना| बुधवार 10 अगस्त शाम 2 बजे नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. तेजस्वी यादव होंगे डिप्टी सीएम. मंगलवार को बिहार के राज्यपाल...

यूजीसी-नेट के दूसरे चरण की परीक्षा स्थगित, अब इस दिन से होगी...

0
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) को स्थगित कर दिया गया है और अब यह 20 से 30 सितंबर के बीच...

हर घर तिरंगा’ अभियान: आईटीबीपी की महिला जवानों ने 17,000 फीट की ऊंचाई पर...

0
देश 75वें स्वतंत्रता दिवस के उपल्क्षय में आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. साथ में हर घर तिरंगा कैंपेन भी चलाया जा...

जाने-माने पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रूडी कर्टजन का सड़क दुर्घटना में निधन

0
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व अंतरराष्ट्रीय अंपायर रूडी कर्टजन का मंगलवार को यहां के निकट रिवरडेल शहर में एक कार दुर्घटना में निधन हो गया....

बिहार संकट: नीतीश कुमार ने पेश किया नई सरकार बनाने का दावा, राज्यपाल को...

0
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात कर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. नीतीश अपनी पार्टी जेडीयू...

Bihar Crisis: नई सरकार में नीतीश ही होंगे सीएम, आरजेडी के पास डिप्टी सीएम...

0
बिहार में नीतीश कुमार ने बीजेपी से नाता तोड़कर आरजेडी के साथ सरकार बनाने की पहल की है, बताया जा रहा है कि ...

आरबीआई ने लगाया आठ सहकारी बैंकों पर जुर्माना, एक एनबीएफसी पर ठोकी तगड़ी...

0
रिजर्व बैंक ने नियमों का पालन करने में कोताही बरतने पर आठ सहकारी बैंकों (Co-operative Bank) और एक गैर बैंकिंग वित्‍तीय कंपनी (NBFC) पर...

देहरादून में निकली तिरंगा रैली, सीएम धामी ने किया प्रतिभाग

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को गांधी पार्क देहरादून में हर घर तिरंगा कार्यक्रम के अन्तर्गत आयोजित रैली/प्रभात फेरी में प्रतिभाग किया. शिक्षा...

बिहार में टूटा एनडीए गठबंधन, अलग हुई जेडीयू और बीजेपी की राह

0
बिहार में जेडीयू और बीजेपी का गठबंधन टूट गया है. मंगलवार की सुबह से जारी सियासी हलचल के बीच किसी भी वक्त इस बात...

नोएडा के गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी गिरफ्तार, 3 मददगार भी अरेस्ट

0
नोएडा के गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी को पुलिस ने मेरठ के कंकरखेड़ा की श्रद्धापुरी से से गिरफ्तार कर लिया है. वहीं त्यागी के साथ...
%d bloggers like this: