नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व के ग्लेशियरों में 10 प्रतिशत की गिरावट हुई दर्ज, जानें वजह

विश्व धरोहर के रूप में प्रसिद्ध नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व के ऋषिगंगा कैचमेंट एरिया में जलवायु परिवर्तन के कारण ग्लेशियर तेजी से पिघल रहे हैं. वन एवं पर्यावरण मंत्रालय की ओर से कराए गए अध्ययन में यह खुलासा हुआ है. अध्ययन के मुताबिक, वर्ष 1980 से 2017 के बीच ग्लेशियर में तकरीबन 10 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है.

1980 में नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व के ऋषिगंगा कैचमेंट का कुल 243 वर्ग किमी एरिया बर्फ से ढका था, लेकिन 2017 में यह एरिया 217 वर्ग किमी ही रह गया. सेटेलाइट डेटा के आधार पर निष्कर्ष निकाला गया है कि 37 सालों में हिमाच्छादित क्षेत्रफल में 26 वर्ग किलोमीटर की कमी आई है.

यही नहीं इस क्षेत्र में पहले स्थायी स्नो लाइन 5200 मीटर पर थी, जो अब 5700 मीटर तक घट बढ़ रही है. उत्तराखंड अंतरिक्ष उपयोग केंद्र के निदेशक प्रो. एमपीएस बिष्ट के निर्देशन में हुए इस अध्ययन में शोध छात्र डॉ. मनीष मेहता और श्रीकृष्ण नौटियाल भी शामिल थे.


दक्षिणी ढलान पर ज्यादा असर

देहरादून. अध्ययन में कहा गया है कि ऋषि गंगा कैचमेंट एरिया की उत्तरी ढलान के ग्लेशियर ज्यादा प्रभावित नहीं हुए हैं, लेकिन दक्षिणी ढलान के ग्लेशियर में बदलाव देखा गया है. इस ओर के ग्लेशियर तेजी से पिघल रहे हैं. नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व के ग्लेशियर यदि इसी तरह से पिघलते रहे तो आने वाले समय में इस क्षेत्र के वन्य जीव जंतुओं और वनस्पतियों पर भी बुरा प्रभाव पड़ेगा.

वन एवं पर्यावरण मंत्रालय के अध्ययन में कहा गया है कि नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व क्षेत्र में पहले की तुलना में बर्फबारी में कमी आई है. तापमान में हुई बढ़ोतरी की वजह से इस क्षेत्र में बर्फवारी कम होने के साथ ही बारिश होने लगी है जिससे ग्लेशियर पिघलने की गति में तेजी आई है.


ब्लैक कार्बन से पिघल रहे हिमालय के ग्लेशियर

अल्मोड़ा. जंगलों में लगातार बढ़ रही आग की घटनाएं और वाहन प्रदूषण का असर ग्लेशियरों पर दिखाई दे रहा है. ग्लेशियर में ब्लैक कार्बन की मौजूदगी ने वैज्ञानिकों को चिंता में डाल दिया है. वैज्ञानिकों का भी मानना है कि अगर हिमालय में ब्लैक कार्बन का असर लगातार बढ़ता रहा तो इससे ग्लेशियर तेजी से पिघलेंगे.

गोविंद बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. जेसी कुनियाल ने बताया कि ग्लेशियर में ब्लैक कार्बन के असर से बर्फ तेजी से पिघलती है. उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश के ग्लेशियर में जो उन्होंने शोध किए उसमें भी ये बात सामने आई है. उन्होंने कहा कि लगातार ग्रीन हाउस गैसों का बढ़ता दबाव भी इसकी एक वजह है.

उन्होंने बताया कि हिमाचल में स्थित पार्वती ग्लेशियर और व्यास ग्लेशियर कुल्लू वैली में ब्लैक कार्बन की मौजूदगी पाई गई है. यदि यह लगातार बढ़ता गया तो इससे हिमालय पर धीरे-धीरे असर पड़ेगा. वैज्ञानिकों ने बताया कि बड़े ग्लेशियरों के सापेक्ष छोटे ग्लेशियर ज्यादा पिघल रहे हैं. पिंडारी ग्लेशियर 15 मीटर प्रति साल की दर से पिघल रहा है. जबकि गंगोत्री ग्लेशियर 8 मीटर प्रति साल की दर से पिघल रहा है. हिमाचल में भी छोटे ग्लेशियर तेजी से पिघल रहे हैं.

नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व के ऋषिगंगा कैचमेंट एरिया में ग्लेशियर में कई तरह के बदलाव नजर आए हैं. 1980 से लेकर 2017 के सेटेलाइट डेटा के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला गया है. वन एवं पर्यावरण मंत्रालय को इसकी रिपोर्ट दी गई है.
प्रो एमपीएस बिष्ट, निदेशक, उत्तराखंड अंतरिक्ष उपयोग केंद्र

यह भी पढ़ें -  बड़ा हादसा: नीलांचल एक्सप्रेस सवार यात्री की गर्दन में घुसी लोहे की रॉड, मौके पर हुई मौत

साभार -लाइव हिंदुस्तान

Related Articles

Stay Connected

58,944FansLike
3,250FollowersFollow
494SubscribersSubscribe

Latest Articles

पाक के नए सेना प्रमुख जनरल मुनीर ने भारत के खिलाफ उगला जहर, जानें...

0
पाकिस्तान के नवनियुक्त सेना प्रमुख (सीओएएस) जनरल असीम मुनीर ने भारत के खिलाफ जहर उगला है. जनरल असीम मुनीर ने शनिवार (3 दिसंबर)...

दिल्ली होटल मालिक आत्महत्या मामले में उत्तराखंड के आईपीएस का नाम, दिल्ली से देहरादून...

0
दिल्ली के एक होटल मालिक की आत्महत्या के मामले में उत्तराखंड के एक आईपीएस का नाम सामने आया है. दिल्ली पुलिस ने इस संबंध...

विपिन रावत प्रकरण में सीएम धामी के आदेश पर चौकी इंचार्ज सस्पेंड

0
देहरादून| विपिन रावत प्रकरण में सीएम पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर देहरादून के एसएसपी ने लापरवाही बरतने वाले चौकी इंचार्ज को सस्पेंड कर...

देहरादून: सीएम धामी ने विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर की ये चार घोषणाएं

0
सीएम धामी ने शनिवार को विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर सुभाष रोड स्थित लॉर्ड वेंकटेश्वर हॉल में समाज कल्याण विभाग द्वारा आयोजित राज्य...

अतिक्रमण के खिलाफ सड़को में उतरे लोग, जाम लगने से पर्यटक हुए परेशान

0
मसूरी कोल्हुखेत के पानीवाला बैंड पर अतिक्रमण हटाओ अभियान के खिलाफ स्थानीय लोगों ने जाम लगा दिया है। बता दे कि सैकड़ों वाहन यहां...

स्‍टार शटलर लक्ष्य सेन पर एफआईआर, उम्र में धोखाधड़ी का आरोप

0
देश के नंबर एक बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्‍य सेन के खिलाफ बेंगलुरु में एफआईआर दर्ज की गई है. उन पर अपनी उम्र में हेराफेरी...

पहली बार भारतीय नौसेना में 341 महिला को अग्निवीर योजना के तहत किया शामिल

0
शनिवार को नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने कहा कि भारतीय नौसेना हिंद महासागर के सभी घटनाक्रमों पर कड़ी नजर रख रही है,...

राजस्थान: गैंगवार से दहला सीकर जिला, दिन दहाड़े गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या

0
राजस्थान का सीकर जिला एक बार फिर से गैंगवार से दहल गया है. शनिवार को प्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट की सीकर में...

एमसीडी चुनाव से पहले बीजेपी ने एक्साइज पॉलिसी पर आप को घेरा, बोले- दिन...

0
दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने डिप्टी सीएम, सीएम अरविंद केजरीवाल के करीबी सहयोगी और नेता नेता मनीष...

बड़ा हादसा: नीलांचल एक्सप्रेस सवार यात्री की गर्दन में घुसी लोहे की रॉड, मौके...

0
आज अलीगढ़ के सोमना और डांबर रेलवे स्टेशन के बीच नीलांचल एक्सप्रेस में दर्दनाक हादसा हुआ। बता दे कि यह घटना सुबह लगभग 8...
%d bloggers like this: