पापुआ न्यू गिनी में भूस्खलन ने मचाई तबाही, 2 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

पापुआ न्यू गिनी में भूस्खलन के कारण 2 हजार से ज्यादा लोगों की मौत की आशंका है. पहले यह संख्या 670 बताई गई थी, जो लगातार बढ़ती जा रही है. बचावकर्मी लगातार दबे हुए लोगों को निकालने का प्रयास कर रहे हैं. समाचार एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, पापुआ न्यू गिनी के सरकारी आपदा केंद्र ने बताया कि भूस्खलन में 2 हजार से अधिक लोगों की दबकर मौत हो गई है.

रिपोर्ट के मुताबिक, पापुआ न्यू गिनी की राजधानी पोर्ट मोरेस्बी से करीब 600 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम स्थित एंगा प्रांत के एक गांव में पिछले शुक्रवार को भूस्खलन हुआ था. जिससे कई घरों में सो रहे लोग दब गए थे. इस हादसे के बाद तुरंत संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि 100 से ज्यादा लोग मारे गए होंगे. बाद में इसे संशोधित करके 670 कर दिया गया.

राष्ट्रीय आपदा केंद्र के कार्यवाहक निदेशक लुसेते लासो माना ने संयुक्त राष्ट्र को लिखे पत्र में कहा कि भूस्खलन के कारण 2000 से अधिक लोग जिंदा दफन हो गए और इमारतों, खेतों को भारी नुकसान पहुंचा है, जिससे देश की आर्थिक जीवनरेखा पर बड़ा प्रभाव पड़ा है. उन्होंने कहा कि स्थिति अस्थिर हुई है, क्योंकि भूस्खलन धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है, जो लोगों के लिए खतरा साबित हो सकता है. उन्होंने बताया कि भूस्खलन के कारण कई क्षेत्र को जोड़ने वाले रास्ते भी अवरुद्ध हो गए हैं. पापुआ न्यू गिनी में करीब 10 मिलियन लोग रहते हैं. रास्ते खराब होने और भूस्खलन के कारण प्रभावित क्षेत्र तक बचावकर्मियों का पहुंचना भी मुश्किल हो गया है.

सिडनी यूनिवर्सिटी के सिविल इंजीनियरिंग स्कूल के एसोसिएट प्रोफेसर पियरे रोगनॉन ने कहा कि भूस्खलन के बाद लोगों को ढूंढना काफी चुनौतीपूर्ण होता है.भूस्खलन से ध्वस्त इमारतें और लोग कई मीटर तक नीचे दबे हो सकते हैं. बचाव दल के अधिकारियों ने कहा, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि भूस्खलन का कारण क्या था, लेकिन एडिलेड विश्वविद्यालय के भूविज्ञान प्रोफेसर एलन कोलिन्स ने कहा कि यह काफी वर्षा वाला क्षेत्र है, इसलिए यहां ऐसा हुआ होगा. कोलिन्स ने कहा कि भूस्खलन सीधे भूकंप के कारण नहीं हुआ है. वर्षा के कारण पहाड़ी ढलानों को बनाने वाली चट्टानें कमजोर हो गईं होंगी.

Related Articles

Latest Articles

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले सीएम धामी, इन विषयों पर की चर्चा

0
मंगलवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भेंट की. भेंट के दौरान मुख्यमंत्री ने गृह...

स्पीकर चुनाव को लेकर लिया गया फैसला, कांग्रेस ने अपने सभी सांसदों के लिए...

0
संसद सत्र शुरू हो गया है. 26 जून यानी कल लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होंगे. इसके लिए कांग्रेस ने लोकसभा में अपने...

पीएम मोदी से मिले सीएम धामी, तीसरी बार देश का प्रधानमंत्री बनने पर दी...

0
मंगलवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी से भेंट कर उन्हें तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री का दायित्व...

इन राज्यों में हुए सबसे ज्यादा पेपर लीक, दांव पर लगा लाखों उम्मीदवारों का...

0
नीट यूजी कंट्रोवर्सी ने एक बार फिर से पेपर लीक मुद्दे को हवा दे दी है. ये पहला मामला नहीं है जब पेपर लीक...

नए आपराधिक कानूनो को लागू करने लिए उत्तराखंड की तैयारी पूरी: सीएस राधा रतूड़ी

0
देशभर में 1 जुलाई 2024 से लागू होने वाले तीन नए आपराधिक कानूनों हेतु उत्तराखंड की तैयारी पूरी हो चुकी है. उत्तराखंड की मुख्य...

सीएम धामी ने दिल्ली के एम्स पहुंचकर जाना घायल वन कर्मियों का कुशलक्षेम

0
सीएम पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पहुंचकर अल्मोड़ा के बिनसर वन्यजीव विहार में वनाग्नि हादसे में गम्भीर...

अबकी बार स्पीकर पद पर तकरार, ओम बिरला बनाम के. सुरेश के बीच जंग

0
लोकसभा स्पीकर पद के लिए अब एक बार फिर एनडीए और विपक्ष के बीच घमासान होने वाला है. एनडीए ने जहां ओम बिरला को...

अभी तिहाड़ जेल से बाहर नहीं आएंगे केजरीवाल, हाईकोर्ट ने जमानत पर लगाई रोक

0
दिल्ली शराब घोटाला केस में अरविंद केजरीवाल को बड़ा झटका लगा है. दिल्ली हाईकोर्ट ने जमानत पर रोक लगा दी है. हाईकोर्ट ने अपने...

काशीपुर-जसपुर मार्ग पर दो डंपरों आपस में भिड़े, चालक की जिंदा जलकर मौत

0
काशीपुर| उधमसिंहनगर ज़िले से बड़े सड़क हादसे की खबर सामने आ रही है. काशीपुर-जसपुर मार्ग पर टोल प्लाजा के पास मंगलवार सुबह दो डंपरों...

दिल्ली: सफदरजंग अस्पताल की पुरानी इमरजेंसी बिल्डिंग में आग, मौके पर फायर ब्रिगेड की...

0
राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल की पुरानी इमरजेंसी बिल्डिंग में आग लगने की खबर है. बताया जा रहा है कि पुरानी इमरजेंसी बिल्डिंग में...