केजरीवाल गिरफ्तार! क्या होगा अगला कदम, जानिए नियम और कानून

दिल्ली शराब नीति मामले को लेकर आखिरकार सीएम अरविंद केजरीवाल गिरफ्तार हो चुके हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में केजरीवाल से दो घंटे तक पूछताछ की. इसके बाद उन्हें अरेस्ट कर लिया.

हालांकि, केजरीवाल पर गिरफ्तारी की तलवार काफी समय से लटकी हुई थी, मगर गुरुवार को जब दिल्ली हाईकोर्ट से सीएम को राहत नहीं मिली, तभी ये तय हो गया था कि किसी भी वक्त उनकी गिरफ्तारी तय है. आपको बता दें कि देर रात ईडी की टीम ने केजरीवाल के घर की तलाशी ली. उन्हें पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया.

इस दौरान आप नेताओं ने देश भर में प्रदर्शन का ऐलान कर दिया था. आप नेता खुलकर कह रहे हैं कि केजरीवाल जेल से ही दिल्ली सरकार चलाने वाले हैं. दिल्ली सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज और आतिशी ने इस गिरफ्तारी को लेकर मीडिया से बातचीत करते हुए दिल्ली सरकार के बारे में स्पष्ट रुख रखा.

उनका कहना है कि केजरीवाल जेल में रहते सरकार चलाने वाले हैं. पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की ओर से तय किया गया है कि अरविंद केजरीवाल ही मुख्यमंत्री हैं और मुख्यमंत्री रहेंगे. उनका कहना है कि जेल रहकर ही पार्टी और सरकार चलाने वाले हैं.

ये हो सकता है संभव
जेल से सरकार चलाना थोड़ा कठिन और तर्कहीन हो सकता है. मगर ऐसा कोई कानून या नियम नहीं है जो सीएम को ऐसा करने से रोक सके. फिर भी केजरीवाल के लिए जेल से सरकार चलाना आसान नहीं होगा. किसी भी कैदी को जेल के नियम कानून को फॉलो करना होता है. जेल के अंदर सभी कैदी के सारे विशेषाधिकार खत्म हो जाते हैं. चाहे वह अंडरट्रायल कैदी ही क्यों न हो. हालांकि, मौलिक अधिकार रहते हैं. जेल में हर काम तय कार्य प्रणाली के तहत होता है. जेल के मैनुअल के अनुसार, जेल में बंद हर कैदी को हर सप्ताह में दो बार अपने रिश्तेदार या दोस्तों से मिलने की अनुमति होगी. हर मुलाकात का समय आधे घंटे बांधा गया है.

जेल में बंद नेता चुनाव तो लड़ सकता है
नियम के अनुसार, जेल में बंद नेता चुनाव तो लड़ सकता है, सदन की कार्यवाही में शामिल हो सकता है, मगर वह किसी तरह की बैठक नहीं कर सकता है. इस साल जनवरी में हेमंत सोरेन को जब ईडी ने गिरफ्तार किया तो PMLA कोर्ट ने उन्हें विश्वास मत में भाग लेने की अनुमति दे दी थी. इस दौरान कैदी जब तक जेल में है, उसकी कई सारी गतिविधियां अदालत के आदेश पर तय होती हैं. कैदी अपने वकील की मदद से किसी कानूनी दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर सकता है. मगर किसी सरकारी दस्तावेज पर हस्ताक्षर करने को लेकर अदालत की मंजूरी लेनी जरूरी है.

Related Articles

Latest Articles

बाबा रामदेव को सुप्रीम कोर्ट से एक और झटका, योग शिविरों के लिए देना...

0
सुप्रीम कोर्ट से योग गुरु बाबा रामदेव को एक और झटका लगा है. इस बार सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव के पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट...

डीडी न्यूज का लोगो केसरिया होने पर सियासी घमासान, विपक्ष ने घेरा

0
दूरदर्शन के तहत आने वाला सरकारी चैनल डीडी न्यूज अपने लोगो में किए गए बदलाव को लेकर विपक्षी दलों के निशाने पर आ गया...

IPL 2024 SRH Vs DC: दिल्ली के घर पर ट्रेविस हेड और अभिषेक शर्मा...

0
शनिवार को अरुण जेटली स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच हाईवोल्टेज और हाईस्कोरिंग मैच खेला गया. इस मैच में टॉस जीतकर...

पकंज त्रिपाठी के बहन और बहनोई दुर्घटना का शिकार, बहनोई की मौत-बहन की हालत...

0
बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता पकंज त्रिपाठी पर दुखों का पहाड़ टूट गया है. एक्टर की बहन और बहनोई दुर्घटना का शिकार हो गए...

राजस्थान: झालावाड़ में दर्दनाक सड़क हादसा, बारातियों से भरी वैन में ट्रक ने मारी...

0
राजस्थान के झालावाड़ में हुए एक सड़क हादसे में नौ लोगों की मौत हो गई. हादसे में एक शख्स गंभीर रूप से घायल हुआ...

यूपी: मुरादाबाद से भाजपा प्रत्याशी कुंवर सर्वेश सिंह का निधन, एम्स में ली अंतिम...

0
उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से भाजपा के प्रत्याशी एवं पूर्व सांसद कुंवर सुर्वेश कुमार सिंह का शनिवार को देहांत हो गया. दिल्ली के एम्स...

राशिफल 21-04-2024: आज इन राशियों का होगा भाग्योदय, सूर्यदेव बनाएंगे बिगड़े कार्य

0
मेष-: आज आपका दिन शुभ रहेगा. लंबे समय से अटका हुआ धन वापस मिलेगा. प्रोफेशनल लाइप में महत्वपूर्ण बदलाव आएंगे. ऑफिस में प्रमोशन या...

21 अप्रैल 2024 पंचांग: जानें आज का शुभ मुहूर्त, कैलेंडर-व्रत और त्यौहार

0
आपके लिए आज का दिन शुभ हो. अगर आज के दिन यानी 21 अप्रैल 2024 को कार लेनी हो, स्कूटर लेनी हो, दुकान का...

ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ के वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ का दिल का दौरा पड़ने से निधन

0
रुद्रप्रयाग| ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ के वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ के निधन से पूरे क्षेत्र...

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार के खिलाफ पुलिस केस दर्ज, जानिए पूरा मामला

0
लोक सभा चुनाव के प्रचार के दौरान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार के खिलाफ पुलिस...